उप-राज्यपाल ने रघुनाथ मंदिर में टेका माथा, धर्मार्थ ट्रस्ट के प्रयासों की सराहना की

2020-01-18T13:26:09.61

जम्मू(आशू): लेफ्टिनेंट गवर्नर गिरीश चंद्र मुर्मू ने शुक्रवार को जम्मू शहर के ऐतिहासिक श्री रघुनाथ मंदिर में माथा टेका। इस अवसर पर जे. एंड के. धर्मार्थ ट्रस्ट के ट्रस्टी विक्रमादित्य सिंह ने उप-राज्यपाल को फूलों का गुलदस्ता भेंट कर उनका स्वागत किया। श्री रघुनाथजी मंदिर के पुजारियों द्वारा वैदिक मंत्रों के जाप के बीच उप-राज्यपाल का गर्मजोशी से स्वागत किया गया। इस मौके पर संभागीय आयुक्त संजीव वर्मा भी उप-राज्यपाल के साथ थे।

धर्मार्थ ट्रस्ट के प्रयासों की सराहना की
उप-राज्यपाल ने ऐतिहासिक रघुनाथ मंदिर में आरती की, जहां प्रमुख पुजारी ने उन्हें ऐतिहासिक रघुनाथ मंदिर के इतिहास के बारे में जानकारी दी, जिसे महाराजा गुलाब सिंह ने स्थापित किया था। मुर्मू ने नटराज मंदिर और श्री रघुनाथजी मंदिर के परिसर में स्थित नारदमेश्वर मंदिर में भी पूजा की। उप-राज्यपाल ने मंदिर परिसर का एक चक्कर लगाया और वहां स्वच्छता बनाए रखने के लिए धर्मार्थ ट्रस्ट के प्रयासों की सराहना की। उन्होंने आने वाले तीर्थयात्रियों को सभी प्रकार की सुविधाएं प्रदान करने के लिए मंदिर प्रबंधन द्वारा की गई व्यवस्थाओं की भी सराहना की।

1835 में हुआ मंदिर का निर्माण
यहां यह उल्लेख करना उचित है कि रघुनाथ मंदिर जम्मू में स्थित एक प्रसिद्ध पवित्र तीर्थस्थल है। रघुनाथ मंदिर भारत के उत्तरी भाग के सबसे बड़े मंदिर परिसरों में से एक है। मंदिर भगवान राम को समॢपत है जिन्हें भगवान विष्णु का अवतार माना जाता है। 1835 में इस मंदिर का निर्माण जम्मू और कश्मीर के संस्थापक महाराजा गुलाब सिंह द्वारा शुरू किया गया था। गुलाब सिंह की मृत्यु के बाद इसे उनके बेटे महाराजा रणबीर सिंह ने 1860 में पूरा किया। 


Author

rajesh kumar

Related News