पाकिस्तान की ओर से भारी गोलाबारी, अधिकारियों ने लोगों को मोर्टार से दूर रहने की सलाह दी (Video)

2020-02-11T12:50:05.503

जम्मू: पाकिस्तान की ओर से पिछले दो दिन की भारी गोलाबारी के बाद जम्मू-कश्मीर में अधिकारियों ने पुंछ जिले के लोगों को सलाह दी कि गोलाबारी के दौरान वे बिना जरुरत बाहर निकलने से बचें और आसपास गिरे मोर्टार गोलों से दूर रहें। अधिकारियों ने बताया कि सीमा पार से हो रही भारी मोर्टार गोलाबारी में शनिवार को एक सैनिक शहीद हो गया। रविवार शाम आठ बजे के बाद पाकिस्तान की ओर से संघर्षविराम उल्लंघन की कोई सूचना नहीं है। उन्होंने बताया कि सीमा पार से हुई गोलाबारी के कारण मेंधार सेक्टर के जंगलों में आग लग गई। उस पर काबू पाने की कोशिश की जा रही है।

PunjabKesari

देगवार सेक्टर में शनिवार को पाकिस्तानी गोलाबारी में नायक राजीव सिंह शेखावत (36) की मौत हो गई जबकि तीन अन्य सैनिक घायल हो गए। वहीं रविवार को मेंधार और बालाकोट सेक्टरों में कई मकान और मवेशियों के खटालों को नुकसान पहुंचा है। सेना के एक अधिकारी ने बताया पाकिस्तान की ओर से गोलाबारी शाम करीब आठ बजे बंद हुई है। पाकिस्तान की ओर से नियंत्रण रेखा पर संघर्षविराम उल्लंघन की कोई सूचना नहीं है। उन्होंने बताया कि पाकिस्तानी सेना ने पिछले दो दिन में तीन सेक्टरों में अग्रिम चौकियों को निशाना बनाने के लिए तोपों और लंबी दूरी की मारक क्षमता वाले मोर्टार बमों का प्रयोग किया है। भारतीय सेना ने उन्हें मुंहतोड़ जवाब दिया है, जिससे पाकिस्तान की ओर कई लोग हताहत हुए हैं। उन्होंने कहा कि नियंत्रण रेखा की निगरानी कर रही सैन्य टुकड़ियां चौकन्नी हैं और करीब से नजर रख रही हैं क्योंकि पाकिस्तान गोलाबारी की आड़ में आतंकवादियों के घुसपैठ की कोशिश कर रहा है।

PunjabKesari
पुलिस के एक अधिकारी ने बताया जिला प्रशासन ने लोगों को गोलाबारी के दौरान सावधान रहने और बिना जरुरत के बाहर नहीं निकलने की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि ग्रामीणों से कहा गया है कि वे आसपास के क्षेत्रों में गिरे मोर्टार गोलों/खोखों से दूर रहें, उन्हें ना छूएं। अधिकारी ने बताया कि गोलाबारी के दौरान करीब एक दर्जन मोर्टार नहीं फटे हैं। विशेषज्ञ उन्हें निष्क्रिय करने में जुटे हैं। मेंधार में दराना गांव निवासी 68 वर्षीय मोहम्मद असलम ने बताया रविवार को पाकिस्तान की ओर से हुई भारी गोलाबारी से हम किस्मत से ही बचे हैं। सीमा पार से अकसर होने वाली गोलाबारी के कारण सीमावर्ती क्षेत्रों में जिंदगी नर्क हो गई है।

PunjabKesari
सरकार बंकरों का काम तेजी से करवाए
उन्होंने कहा कि आज हालात शांतिपूर्ण हैं लेकिन कोई नहीं जानता है कि कब गोले बरसने लगेंगे। उन्होंने कहा हम सरकार से अपील करते हैं कि हमारी सुरक्षा के लिए वह सामुदायिक और निजी बंकरों का काम तेजी से करवाए। हमारे गांव के लिए 15 सामुदायिक बंकरों और कुछ निजी बंकरों की मंजूरी है लेकिन अभी तक सिर्फ एक ही बंकर बना है, अन्य का काम चल रहा है।

 


Author

rajesh kumar

Related News