पुलवामा से हिजबुल आतंकवादियों का सहयोगी गिरफ्तार, आतंकियों की मदद करने का आरोप

2020-01-15T18:16:50.097

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले के अवंतिपुरा इलाके से बुधवार को आतंकवादियों के एक सहयोगी को गिरफ्तार किया गया। पुलिस के एक प्रवक्ता ने बताया कि अवंतिपुरा में पुलिस ने प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकवादी के एक सहयोगी को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार किए गए व्यक्ति की पहचान जिले के त्राल इलाके में गुलशनपुरा के जहांगीर अहमद पारे के रूप में हुई है। प्रवक्ता ने कहा कि पुलिस रिकॉर्ड के अनुसार वह त्राल सहित विभिन्न इलाकों में सक्रिय हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकवादियों की मदद कर रहा था। 

PunjabKesari

गौरतलब है कि इससे पहले 4 जनवरी को हिज्बुल मुजाहिदीन के शीर्ष आतंकवादी मोहम्मद अमीन उर्फ जहांगीर सरूरी की मदद करने वाले के लिए 10 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया था। किश्तवाड़ में 2018 से आतंकवाद का प्रभाव बढ़ने के पीछे सरोरी का दिमाग माना गया है। सरोसी पिछले तीन दशकों से किश्तवाड़ जिले में सक्रिय था। किश्तवाड़ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक हरमीत सिंह मेहता ने कहा हमने 10 ऐसे लोगों की पहचान की है, जो हिज्बुल मुजाहिदीन के आतंकवादी जहांगीर सरोरी को सहायता प्रदान कर रहे थे और उनके खिलाफ विभिन्न धाराओं तहत मामला दर्ज किया है। उन्होंने कहा कि दचान पुलिस स्टेशन में प्राथमिकी दर्ज की गई है और आरोपियों को पकड़ने के प्रयास किए जा रहे हैं।

PunjabKesari

अधिकारी ने बताया कि वे कथित रूप से आतंकवादियों को आवागमन और वित्तीय सहायता मुहैया करा रहे थे, और आतंकियों के प्रतिनिधि के रूप में काम कर रहे थे। सरूरी 1990 के दशक में हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल हुआ था, वह कभी गिरफ्तार नहीं हुआ और किश्तवाड़ के जंगलों में छिपा हुआ है। किश्तवाड़ में 2018 में आतंकवाद का प्रभाव बढ़ने के पीछे सरोरी का दिमाग माना गया। इसके पहले जिले को आतंक मुक्त घोषित कर दिया गया था। 


Author

rajesh kumar

Related News