तालिबान की राह पर चीन, बच्चों ने की गलती तो मां-बाप जाएंगे जेल!

10/20/2021 10:50:22 AM

इंटरनेशनल डेस्क: चीन  में अब बच्चों की गलती की सजा माता-पिता को भुगतना पड़ेगी। इसके लिए बकायदा चीनी संसद में कानून बनाया जा रहा है। इसके तहत बच्चों द्वारा किसी अपराध को अंजाम देने या बुरा व्यवहार करने पर मां-बाप को सजा दी जाएगी। ‘फैमिली एजुकेशन प्रमोशन लॉ’के मसौदे के तहत तैयार किए जा रहे इस कानून में यदि कोर्ट को लगेगा कि  माता-पिता की देखरेख में बच्चों में बहुत बुरा या आपराधिक प्रवृत्ति पाई जा रही है तो अभिभावकों को फटकार लगाई जाएगी।  इसके अलावा पारिवारिक शिक्षा मार्गदर्शन कार्यक्रमों में जाने का आदेश दिया जाएगा।

फैमिली एजुकेशन प्रमोशन लॉ
नेशनल पीपुल्स कांग्रेस (एन.पी.सी.) के तहत विधायी मामलों के आयोग के प्रवक्ता जांग तिवेईक ने कहा कि किशोरों के दुर्व्यवहार करने के कई कारण होते हैं और अनुपयुक्त पारिवारिक शिक्षा इसका प्रमुख कारण है। ‘फैमिली एजुकेशन प्रमोशन लॉ’ का मसौदे की इस हफ्ते एन.पी.सी. की स्टैंडिंग कमेटी द्वारा समीक्षा की जाएगी। एन.पी.सी. ने अभिभावकों से गुजारिश की है कि वे अपने बच्चों के आराम करने, खेलने और एक्सरसाइज करने के लिए समय निर्धारित करें। बीजिंग  ने इस साल अधिक मुखर तरीके से बच्चों से जुड़े मसलों पर कार्रवाई की है।

आखिर इस नए कानून में क्या है?
नए कानून के मसौदे के तहत अगर बच्चों ने कानूनी उम्र से कम उम्र में कोई अपराध किया है, तो उनके माता-पिता को अधिकारियों द्वारा सजा दी जाएगी। चीन में अधिकांश अपराधों के लिए कानूनी उम्र 16 है। अगर परिवार नियमों का पालन नहीं करता है तो उन्हें चेतावनी दी जाएगी। अपराध की गंभीरता के आधार पर अभिभावकों पर 1000 युआन (लगभग 11 हजार रुपये) का फाइन लगाया जाएगा या उन्हें पांच दिनों तक हिरासत में रखा जाएगा। चीन का कहना है कि इस कानून का मकसद पूरे देश में पालन-पोषण कौशल, नैतिकता और समाजवाद के मूल मूल्यों को बढ़ावा देने है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Anil dev

Related News

Recommended News