पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था वित्त वर्ष 2020-21 में 1.5-2.5 प्रतिशत की दर से बढ़ेगी: रिपोर्ट

2020-11-19T14:57:43.423

इस्लामाबाद, 19 नवंबर (भाषा) पाकिस्तान के केंद्रीय बैंक के मुताबिक नकदी संकट और कोरोना वायरस महामारी के प्रकोप से जूझ रही पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था चालू वित्त वर्ष में 1.5-2.5 प्रतिशत की दर से बढ़ सकती है। एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने बुधवार को बताया कि स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान (एसबीपी) द्वारा बुधवार को जारी 2019-20 की वार्षिक रिपोर्ट में कहा गया कि पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था कोविड-19 से पहले के स्तर से ऊपर उठने के लिए तैयार है।

रिपोर्ट में कहा गया, ‘‘पाकिस्तान के केंद्रीय बैंक का अनुमान है कि कोविड-19 से प्रभावित राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था पटरी पर लौटेगी और चालू वित्त वर्ष में वृद्धि दर 1.5-2.5 प्रतिशत रह सकती है।’’ दूसरे देशों की तरह पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था भी कोरोना वायरस से बुरी तरह प्रभावित हुई है और वहां इस बीमारी से अब तक 7,248 लोगों की जान जा चुकी है। पाकिस्तान पहले ही गहरे वित्तीय संकट में है और चीन सहित अपने करीबी सहयोगियों से भारी वित्तीय मदद लेने के अलावा अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष से राहत पैकेज पर बातचीत कर रहा है।

एसबीपी ने अपनी रिपोर्ट में कहा, ‘‘कोविड-19 से पहले व्यापक आर्थिक बुनियादी तत्वों में हुए सुधार बरकरार हैं, और इस झटके को दूर करने में सशक्त आर्थिक प्रतिक्रिया से मदद मिल रही है। ऐसा लग रहा है कि कोविड-19 से पहले अर्थव्यवस्था जहां थी, वहां से इसमें सुधार हो रहा है।’’ केंद्रीय बैंक ने सितंबर में जीडीपी वृद्धि दर के चालू वित्त वर्ष में दो प्रतिशत रहने का अनुमान जताया था।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

Edited By

PTI News Agency

Recommended News