पाक में संसद पर विपक्ष का कब्जा, चीफ जस्टिस ने बुलाई SC जजों की बैठक, सेना ने कहा-हमारा कोई लेना नहीं

punjabkesari.in Sunday, Apr 03, 2022 - 03:31 PM (IST)

इस्लामाबादः पाकिस्तान में चल रही राजनीतिक उथल-पुथल के बीच  इमरान के खिलाफ  संसद में अविश्वास प्रस्ताव खारिज कर दिया गया। प्रस्ताव खारिज  होने के बाद  इमरान ने राष्ट्र को संबोधित करते हुए कहा कि  जनता इस फैसले से खुश है।  इस बीच इमरान ने राष्ट्रपति से संसद भंग करने की सिफारिश की जिसके बाद राष्ट्रपति आरिफ अल्फी ने संसद भंग कर दी और 90 दिन के भीतर चुनाव करवाने के आदेश दिए हैं। 

 

दरअसल, अविश्वास प्रस्ताव खारिज होने के बाद पाकिस्तान में सियासी स्थिति बेहद खराब हो गई है।  सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस ने जजों की बैठक बुलाई है जिसमें आज मचे सियासी घमासान पर चर्चा होगी। इधर, संसद में अजीबो-गरीब हालात बन गए हैं।  अविश्वास प्रस्ताव खारिज होने के बाद विपक्षी नेताओं ने उग्र रूप धारण कर लिया है।  वो संसद में ही डेरा जमाए हुए हैं।  करीब 6 हजार सिक्योरिटी पर्सन संसद की सुरक्षा के लिए मौजूद हैं।  राष्ट्रपति के ऐलान के बाद  विपक्ष भड़क गया और  संसद पर कब्जा कर अयाज सादिक को अपना स्पीकर चुन लिया।  यही नहीं संसद में विपक्ष ने अपनी कार्रवाई भी शुरू कर दी  । विपक्ष की इस हरकत के बाद चीफ जस्टिस ने सुप्रीम कोर्ट के जजों बैठक बुलाई है। 

 

इस बीच पाकिस्तान के हालात पर सेना का पहला बयान सामने आया है। पाक सेना ने देश में मची राजनीतिक उथल-पुथल से खुद को दूर बताया और कहा कि राजनीतिक प्रक्रिया से हमारा कोई लेना-देना नहीं है। ISPR ने कहा कि आज जो हुआ वह सियासी बवाल था।  उधर, शहबाज शरीफ ने इमरान खान पर हमला बोलते हुए कहा कि वो गद्दार हैं और उन्होंने देश को विभाजित करने और  गृहयुद्ध की ओर धकेलने का काम किया है। इससे पहले देश  को संबोधित करते हुए  इमरान खान ने कहा कि  मेरे खिलाफ विदेशी साजिश हुई है। उन्होंने कहा कि देश की जनता अब नए चुनाव की तैयारी करे।  


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tanuja

Related News

Recommended News