भारत ने UN में  हिंदी भाषा के विस्तार पर दिया जोर, 8 लाख डॉलर का योगदान भी दिया

punjabkesari.in Thursday, May 12, 2022 - 01:50 PM (IST)

इंटरनेशनल डेस्कः संयुक्त राष्ट्र में भारत ने हिंदी भाषा के विस्तार पर जोर दिया और इसके उपयोग को बढ़ावा देने के लिए आठ लाख डॉलर ( लगभग छह करोड़ 18 लाख 40 हजार 40 रुपए) का योगदान दिया है। भारत के उप स्थायी प्रतिनिधि आर रविंद्र ने वैश्विक संचार के यूएन विभाग की प्रभारी अधिकारी और उप निदेशक मीता होसली को इसका चेक सौंपा। 


UN के लिए भारत के स्थायी मिशन ने गुरुवार को एक ट्वीट में इसकी जानकारी देते हुए लिखा कि भारत ने संयुक्त राष्ट्र में हिंदी को प्रोत्साहन देने के प्रयास जारी रखने के लिए आठ लाख डॉलर का योगदान दिया है। मिशन ने कहा कि भारत सरकार संयुक्त राष्ट्र में हिंदी के उपयोग को बढ़ाने के लिए लगातार प्रयास कर रही है।मिशन ने कहा कि इन प्रयासों के हिस्से के रूप में हिंदी एट यूएन प्रोजेक्ट को 2018 में संयुक्त राष्ट्र के सार्वजनिक सूचना विभाग के साथ भागीदारी में शुरू किया गया था। इसका उद्देश्य हिंदी भाषा में यूएन की सार्वजनिक पहुंच बढ़ाना और लाखों हिंदीभाषी लोगों में वैश्विक मुद्दों के प्रति जागरूकता फैलाना था।

 

भारत साल 2018 से संयुक्त राष्ट्र के वैश्विक संचार विभाग (DGC) के साथ साझेदारी कर रहा है और हिंदी भाषा में डीजीसी के समाचार और मल्टीमीडिया सामग्री को मुख्यधारा और समेकित करने के लिए अतिरिक्त बजटीय योगदान प्रदान कर रहा है। साल 2018 से संयुक्त राष्ट्र के समाचारों को हिंदी में इसकी वेबसाइट और ट्विटर, इंस्टाग्राम व फेसबुक पर सोशल मीडिया हैंडल के माध्यम से प्रसारित किया जा रहा है। इसके अलावा हर सप्ताह संयुक्त राष्ट्र समाचारों का हिंदी ऑडियो बुलेटिन (यूएन रेडियो) जारी होता है। इसका वेबलिंक यूएन हिंदी न्यूज वेबसाइट पर उपलब्थ है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tanuja

Related News

Recommended News