चीन में जबरन करवाया जा रहा 12 घंटे काम, कर्मचारियों ने ''996 वर्क कल्चर'' के खिलाफ छेड़ा अभियान

10/18/2021 4:32:25 PM

बीजिंगः चीन में  12-12 घंटे काम करने को मजबूर कर्मचारियों का गुस्सा लगातार बढ़ता जा रहा है। यहां  '996' वर्क कल्चर या ऑफिस कल्चर को लेकर बड़ा बवाल मचा हुआ है। चीनी लोगों ने सोशल मीडिया पर एक अभियान 'वर्कर लाइव्स मैटर'  चलाया है जिसमें अब तक Tencent, Alibaba जैसी दिग्गज कंपनियों के कर्मियों सहित  5000 से अधिक कर्मचारी शामिल हो चुके हैं। आइए जानते हैं कि क्यों चीन के कर्मचारी '996 वर्क कल्चर' के खिलाफ अभियान चला रहे हैं। दरअसल, चीन में कार्य अवधि को '996' कहा जाता है क्योंकि कर्मचारी अक्सर सप्ताह में 6-दिन सुबह 9 से रात 9 बजे तक काम करते हैं। इसके खिलाफ शुरू हुए अभियान में कर्मचारी ऑनलाइन एक स्प्रेडशीट पर अपना वर्किंग टाइम शेयर कर रहे हैं। '996' ऑफिस कल्चर के लोकर सालों से चीन में विवाद रहा है। निजी कंपनियों में कर्मचारियों को एक सप्ताह में 72 घंटे काम करना पड़ता है, जो कि अमानवीय है।

 

चीन के  ली चुआंग (31) ने दो साल पहले '996' की वजह से अपनी नौकरी छोड़ दी थी। जॉब छोड़ने के बाद ली चुआंग वुडांग पर्वत पर एक भिक्षु बन गए थे, हालांकि अपने शहर वापल लौटने के बाद जॉब करने की हिम्मत कभी नहीं हुई, अब वह अपनी छोटी सी दुकान चलाते हैं। एक इंटरव्यू में चुआंग ने कहा था, 'एक मशीन की तरह इतने लंबे समय तक काम करने के बाद मैने हार मान ली।' चुआंग अब दूसरों को भी प्ररित कर रहे हैं। अब यह देखना बाकी है कि चीन में क्या इस बार 'वर्कर लाइव्स मैटर' अभियान से कोई बदलाव आएगा या नहीं?  चीन सरकार भी निजी कंपनियों को कई बार चेतावनी दे चुकी है, बावजूद इसके आज भी कर्मचारियों का शोषण किया जा रहा है। बीते दिन चीन से एक रिपोर्ट सामने आई थी जिसमें कहा गया था कि मजदूरों से ओवरटाइम के नाम पर घंटों काम कराया जा रहा है।

 

भारत की तरह ही चीन में भी श्रम कानूनों के मुताबिक एक दिन में 8 घंटे काम कराने का प्रावधान है, इस कानून के तहत कोई भी कंपनी एक सप्ताह में अपने कर्मचारियों से अधिकतम 44 घंटे ही काम करा सकती है। किसी भी कर्मचारी के जीवन में कार्य अवधि महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। एक टॉक्सिक ऑफिस कल्चर के चलते किसी भी इंसान के विकास और मानसिक स्थिति को नुकसान पहुंचा सकता है। हार्वर्ड बिजनेस स्कूल के एक अध्ययन के अनुसार लगभग चीन में आधे कर्मचारी ऐसे हैं जो अनचाहे ऑफिस कल्चर में काम कर रहे हैं। द हॉन्ग कॉन्ग पोस्ट की रिपोर्ट के मुताबिक '996' की वजह से चीन में श्रमिकों के आत्महत्या और मौत का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। 2019 की शुरुआत की मीडिया रिपोर्टों का हवाला देते हुए पोस्ट में कहा गया कि एक एक्टिविस्ट ग्रुप ने गीथहब पर '996.ICU' नाम से एक सर्वे की शुरुआत की थी। इसमें 996 वर्क कल्चर के खिलाफ 'अनुचित ओवरटाइम और ब्लैकलिस्टेड उद्यमों' की एक सूची तैयार की गई थी। इन कंपनियों पर कर्मचारियों से 12 घंटे काम करने का आरोप लगा था। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tanuja

Related News

Recommended News