See More

क्वारंटाइन के बाद भी सतर्क रहना है ज़रूरी, पढ़े रिपोर्ट

2020-04-11T12:16:42.317

नई दिल्ली : कोरोना वायरस के कारण पूरा देश में लॉकडाउन है जो 14 दिन पूरे होने के बाद बहुत से लोगों के मन में यह सवाल है कि क्या वे क्वारंटाइन के बाद अब बाहर जाने और अपनों से मिलने के लिए सुरक्षित हैं ? क्या अब उन्हें संक्रमण नहीं होगा? विश्व स्वास्थ्य संगठन ने चेताया है कि इसके बाद और भी बिगड़ सकते है । ऐसे में आपको क्वारंटाइन की इस अवधि से जुड़े तथ्यों के बारे में बता रहे हैं.।

इन लोगो के लिए ज़रूरी है आइसोलेशन 
अमेरिका के सेंटर कंट्रोल ऑफ प्रिवेंशन (सीडीसी) के अनुसार, अगर आप संक्रमण की संभावना के हाई या मीडियम रिस्क में आते हैं तो आइसोलेशन की जरूरत है। हाईिरक्स में वे लोग आएंगे जो कोरोना मरीज के सीधे संपर्क में आए हों। मध्यम श्रेणी के खतरे की श्रेणी में वे लोग आएंगे जो संक्रमण ग्रस्त देश की यात्रा से लौटे हों । 14 दिन का विज्ञान -अमेरिका के नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजिकल इंफॉर्मेशन के अनुसार, कोविड-19 वायरस इंसान के शरीर में फैलने में सामान्यत: पांच दिन का समय लेता है। 97 फीसदी संक्रमित लोगों में कोरोना के लक्षण 11 से 12 दिन बाद दिखते हैं। तमाम लोगों में 14वें दिन भी लक्षण दिखे हैं। इसलिए 14 दिन क्वारंटाइन का सिर्फ इतना मतलब है कि अगर आपको संक्रमण होगा तो लक्षण दिखने लगेंगे। अगर आपको नहीं दिखे तो भी सतर्क रहें।


Author

Riya bawa

Related News