मार्च में इनसो चलाएगी ‘कोरोना हुआ कम, अब देखो इनसो का दम’ अभियान

punjabkesari.in Friday, Feb 11, 2022 - 07:27 PM (IST)

चंडीगढ़, (अर्चना सेठी): कोरोना महामारी के कारण लंबे समय से शैक्षणिक संस्थान प्रभावित रहे और इसके चलते छात्रों से जुड़े महत्वपूर्ण मुद्दों पर खासा असर पड़ा। अब धीरे-धीरे कम हो रहे कोरोना के प्रभाव को देखते हुए छात्र संगठन इंडियन नेशनल स्टूडेंट ऑर्गेनाइजेशन (इनसो) शैक्षणिक संस्थानों में वापस लौटे छात्रों में नई ऊर्जा वहन करेगी। इसके लिए मार्च माह से जेजेपी प्रधान महासचिव दिग्विजय चौटाला और इनसो राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रदीप देशवाल ‘कोरोना हुआ कम, अब देखो इनसो का दम’ अभियान के तहत प्रदेशभर की सभी यूनिवर्सिटियों में जाएंगे और युवाओं के तमाम विषयों पर चर्चा करेंगे। इस अभियान के तहत इनसो द्वारा सामाजिक, सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी आयोजन किया जाएगा।

 
इस अभियान के बारे में दिग्विजय चौटाला ने बताया कि कोरोना के चलते काफी लंबे समय तक कॉलेज-विश्वविद्यालय बंद रहे और इसके चलते छात्रों व हमारे बीच कोरोना के मजबूरन एक व्यक्तिगत दूरी रही लेकिन अब हम छात्रों के बीच जाकर इस कमी को पूरा करेंगे। उन्होंने बताया कि इनसो ने मार्च माह में सभी यूनिवर्सिटियों का दौरा करने का निर्णय लिया है और ‘कोरोना हुआ कम, अब देखो इनसो का दम’ अभियान के तहत युवाओं से रूबरू होंगे और छात्रों को बेहतर शिक्षा और समाजिक जागरूकता की ओर अग्रसर करने का काम करेंगे। इस दौरान युवाओं से उनके तमाम विषयों पर चर्चा करने के साथ उनकी समस्याओं को जानकर हल करवाया जाएगा। साथ ही दिग्विजय ने कहा कि विश्वविद्यालयों और महाविद्यालयों में प्रत्यक्ष छात्र संघ चुनाव करवाने को लेकर इनसो शुरू से पूरी तरह प्रतिबद्ध है और इस विषय पर छात्रों से चर्चा की जाएगी। उन्होंने कहा कि चर्चा के बाद छात्र संघ चुनाव करवाने के लिए आगामी कदम उठाएंगे।

 
वहीं इस अभियान के बारे में इनसो राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रदीप देशवाल ने कहा कि इनसो छात्रों से जुड़ा सबसे मजबूत एवं प्रभावी संगठन है इसलिए हमारा दायित्व बनता है कि अब कोरोना महामारी से सुधरे हालातों में छात्रों के बीच जाकर उनका हालचाल जाने और उनकी शिक्षा संबंधी तमाम समस्याओं को जानकर उन्हें हल करवाएं इसीलिए मार्च में इस अभियान की शुरुआत करने जा रहे है। देशवाल ने कहा कि इसके अलावा इनसो संगठन की मजबूती पर भी फोकस रहेगा। कॉलेजों-यूनिवर्सिटियों के नये-नये युवाओं को इनसो के साथ जोड़ा जाएगा और संगठन में नई जिम्मेदारियां सौंपी जाएगी।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Archna Sethi

Related News

Recommended News