कोरोना की तीसरी लहर भांपकर तैयारी कर रही हरियाणा सरकार : विज’

05/07/2021 8:35:33 PM

चंडीगढ़, (पांडेय): हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर भांपकर सरकार ने तैयारी तेज कर दी है। प्रदेश के सभी अस्पतालों में स्वास्थ्य संसाधन बढ़ाए जा रहे हैं। सभी अस्पतालों में बैड, ऑक्सीजन और वैंटीलेंटर की सुविधा बढ़ाने के साथ ही नए अस्पतालों में डाक्टर्स व पैरामैडीकल स्टाफ की नई भर्ती की जाएगी। विज ने कहा कि डाक्टर व दूसरे स्टाफ की भर्ती के लिए विभागीय अफसरों को आदेश दिया जा चुका है, जो जल्द पूरी हो जाएगी। उन्होंने कहा कि पानीपत और हिसार में 500-500 बैड के अस्पताल बनने के साथ ही फरीदाबाद और गुरुग्राम में भी बैड की क्षमता बढ़ाई जा रही है। विज ने कहा कि उनकी अपील को मानते हुए इंडियन मैडीकल एसोसिएशन (आई.एम.ए.) ने प्रदेश भर में सभी छोटे अस्पतालोंं में कोविड बैड लगाने शुरू कर दिए हैं। अब तक करीब 100 से ज्यादा अस्पतालों में सैकड़ों कोविड मरीज दाखिल किए जा चुके हैं।


दरअसल, देश में कोरोना की जल्द तीसरी लहर आने की संभावना जताई जा रही है और 15 मई तक हरियाणा में कोरोना की दूसरी लहर के पीक की संभावना व्यक्त की गई है। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग अब संसाधन बढ़ाने की तैयारियों में जुट गया है।


‘होम आइसोलेशन वाले मरीजों को मुफ्त में किट देगा स्वास्थ्य विभाग’ 
स्वास्थ्य मंत्री विज ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की ओर से होम आइसोलेशन में रहने वाले कोविड मरीजों के लिए एक किट तैयार की है। यह किट होम आइसोलेशन में रह कर प्रत्येक उस मरीज को दी जाएगी। शुक्रवार को इस किट को मंत्री ने लांच करते हुए कहा कि इस किट को स्वास्थ्य विभाग ने तैयार किया है, इसमें एक ऑक्ससिमिटर, डिजिटल थर्मामीटर स्टीमर, मास्क आदि के साथ-साथ एलोपैथिक आयुर्वेदिक दवाइयां भी हैं। उन्होंने कहा कि मौजूदा समय में प्रदेश में 98000 मरीज होम आइसोलेशन में अपना उपचार कर रहे हैं। अब जल्द-जल्द से यह किट पूरे प्रदेश में स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी घर-घर जाकर पहुंचाने का काम करेंगे। इस किट की अनुमानित राशि 4 से 5 हजार रुपए तक है जो कि स्वास्थ्य विभाग बिल्कुल मुफ्त देगा।


‘मिलिट्री व पैरामिलिट्री के हवाले होना चाहिए ऑक्सीजन प्लांटों का प्रबंधन’
गृह मंत्री अनिल विज ने कहा ऑक्सीजन प्लांट्स के नियंत्रण एवं प्रबंधन का कार्य मिलिट्री-पैरामिलिट्री को सौंपा जाना चाहिए ताकि इनकी सुरक्षा व सुचारु संचालन हो सके। विज ने कहा कि ऑक्सीजन संबंधी समस्याओं के चलते इस प्रकार का कदम उठाया जाना चाहिए क्योंकि अगर एक भी प्लांट रुक जाता है तो लोगों की सांसें रुक जाती हैं। केंद्र सरकार की सहायता से प्रदेश में 60 ऑक्सीजन प्लांट लगाए जाएंगे, जो कि राज्य के 30, 50, 100 और 200 बिस्तरों की क्षमता वाले विभिन्न सरकारी अस्पतालों में स्थापित किए जाएंगे। मंत्री ने कहा कि राज्य के 6 सरकारी अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट्स पर कार्य किया जा रहा है। अम्बाला के बाद अब पंचकूला, फरीदाबाद और हिसार में भी शीघ्र ही ऑक्सीजन प्लांट काम करना शुरू कर देंगे। उन्होंने कहा कि करनाल और सोनीपत में लगाए गए ऑक्सीजन प्लांटो से उत्पादन शुरू हो गया है। साथ ही प्रदेश के सरकारी अस्पतालों को ऑक्सीजन के मामले में आत्मनिर्भर बनाने के लिए सरकार द्वारा युद्घ स्तर पर काम जारी है।


‘बच्चों की वैक्सीन के लिए राज्य तैयार’ 
विज ने कहा कि हमारी सरकार प्रदेश में बच्चों की वैक्सीनेशन के लिए पूरी तरह से तैयार है। जैसे ही बच्चों के लिए वैक्सीन मंजूर होगी और राज्य को वैक्सीन मिलेगी, वैसे ही बच्चों के वैक्सीनेशन की शुरूआत कर दी जाएगी। दरअसल सुप्रीम कोर्ट ने कोरोना के बढ़ते प्रकोप पर सरकार के सामने सवाल खड़े किए हैं। सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र से बच्चों की वैक्सीन को लेकर पूछा है कि सरकार के क्या बंदोबस्त हैं। इस सवाल के जवाब में विज ने कहा कि हरियाणा राज्य बच्चों की वैक्सीनेशन के लिए तैयार है।   


‘राहुल गांधी के ट्वीट पर विज ने कसा तंज’
देशव्यापी लॉकडाऊन को लेकर राहुल गांधी इन दिनों ङ्क्षहदी और इंग्लिश में ट्वीट कर रहे हैं। जिसमें वह इंग्लिश में तो संपूर्ण लॉकडाऊन की मांग कर रहे हैं और ङ्क्षहदी ट्वीट में लॉकडाऊन पर सवाल खड़े कर रहे हैं। राहुल के इस सवाल पर विज ने तीखा तंज कसा है। विज ने कहा कि राहुल गांधी को खुद समझ नहीं आता कि उन्हें क्या कहना है। ऐसे में राहुल गांधी को घर बैठकर पहले सोचना चाहिए कि वह करना क्या चाहते हैं।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Ajesh K Dharwal

Related News

Recommended News