गोवा क्रांति दिवस पर सावंत ने ‘डिजिटल क्रांति’ का आह्वान किया

punjabkesari.in Saturday, Jun 18, 2022 - 05:28 PM (IST)

पणजी, 18 जून (भाषा) गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने शनिवार को ‘गोवा क्रांति दिवस’ के अवसर पर सभी स्वतंत्रता सेनानियों को श्रद्धांजलि दी और कहा कि राज्य में ‘डिजिटल क्रांति’ का समय आ गया है।

इस अवसर पर यहां एक राज्य स्तरीय समारोह को संबोधित करते हुए सावंत ने गोवा को पुर्तगाली शासन से मुक्त कराने के लिए स्वतंत्रता सेनानियों के बलिदानों को याद किया। समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में गोवा के राज्यपाल पी. एस. श्रीधरन पिल्लई मौजूद थे। सावंत, पिल्लई और अन्य नेताओं ने आजाद मैदान में शहीद स्मारक पर श्रद्धांजलि दी।

गोवा क्रांति दिवस, 18 जून को 1946 में मडगांव में आयोजित जनसभा के उपलक्ष्य में मनाया जाता है, जब स्वतंत्रता सेनानी राम मनोहर लोहिया ने ‘स्वतंत्रता’ का आह्वान किया था। मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘राज्य में डिजिटल क्रांति का समय आ गया है। राष्ट्रीय शिक्षा नीति और अन्य पहलों के माध्यम से शिक्षा के क्षेत्र में डिजिटल क्रांति होनी चाहिए।’’
उन्होंने कहा कि राज्य सरकार पहले ही कक्षा छह के छात्रों के लिए पाठ्यक्रम में कोडिंग और रोबोटिक्स को शामिल करने के लिए पाठ्यक्रम में संशोधन कर चुकी है। सावंत के पास शिक्षा विभाग भी है। उन्होंने कहा कि शिक्षाविद गोवा के इतिहास को राज्य के स्कूलों में इतिहास की पाठ्यपुस्तकों के अभिन्न अंग के रूप में शामिल करने के लिए काम कर रहे हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘हमारा मानना है कि राज्य के इतिहास के बारे में युवा पीढ़ी को बताया जाना चाहिए।’’ उन्होंने शिक्षकों से छात्रों को पुनर्निर्मित अगुआडा जेल परिसर में ले जाने की अपील की, जहां स्वतंत्रता सेनानियों को मुक्ति पूर्व अवधि के दौरान बंद किया गया था। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने जेल परिसर को संग्रहालय में तब्दील कर दिया है।

सावंत ने कहा कि भारत की आजादी के लगभग 16 साल बाद गोवा आजाद हुआ था और 1955 में एक सत्याग्रह किया गया था, जब राज्य की सीमा पर पुर्तगालियों द्वारा 70 सत्याग्रहियों की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। उन्होंने कहा कि 1955 के आंदोलन में भाग लेने वाले कई सत्याग्रहियों ने कभी खुद को स्वतंत्रता सेनानियों के रूप में पंजीकृत नहीं किया और राज्य सरकार उन्हें सूचीबद्ध करने की प्रक्रिया में है और राज्य सरकार उन्हें केंद्र से राष्ट्रीय स्वतंत्रता सेनानियों की सूची में शामिल करने का आग्रह करेगी।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News