ऐसा करने वाली दुनिया की पहली कंपनी बनी ओला इलेक्ट्रिक

2021-09-13T19:45:58.923

ऑटो डेस्क : महिलाओं की जिंदगी बंदिशों के लिए जानी जाती है। ये मत करो, वहां मत जाओ यहां तक कि कपड़ों को लेकर भी समाज अपनी सोच उन पर थोपता रहा है। इन सबके बावजूद महिलाएं आत्मनिर्भर बनने की दिशा में आगे बढ़ रही हैं। ऐसी ही एक पॉजीटिव खबर तमिलनाड़ू से आई है। ओला इलेक्ट्रिक के सीईओ भावेश अग्रवाल ने ट्वीट कर बताया है कि ओला इलेक्ट्रिक महिलाओं के द्वारा चलने वाली दुनिया की सबसे बड़ी फैक्ट्री बन जाएगी। उन्होंने ट्वीट में लिखा कि “आत्मनिर्भर भारत को आत्मनिर्भर महिलाओं की जरूरत! ओला फीचर फैक्ट्री अब पूरी तरह से महिलाएं चलाएंगी, वो भी 10,000 से ज्यादा! यह दुनिया की सबसे बड़ी महिलाओं द्वारा संचालित फैक्ट्री होगी!" 

PunjabKesari

अग्रवाल ने बताया कि “देश में इस बात पर चर्चा होती है कि महिलाओं को पुरुषों के साथ वर्क इक्वैलिटी मिलनी चाहिए। हमने उन्हें ट्रेंड करने और स्किल डवलप करने के लिए महत्वपूर्ण निवेश किया है। वे ओला फ्यूचर फैक्ट्री में बने हर व्हीकल के प्रोडक्शन के लिए जिम्मेदार होंगी। इकॉनॉमिकली कैपेबल होने से महिलाओं के ना सिर्फ जीवन में, बल्कि उनकी परिवार और समाज में भी सुधार होता है।" ओला इलेक्ट्रिक फैसिलिटी से ओला के इलेक्ट्रिक एस 1 और एस 1 प्रो स्कूटर प्रोड्यूस होते हैं। इस साल के अंत तक यह फैसिलिटी पूरी क्षमता के साथ हर साल दो मिलियन यूनिट्स प्रोड्यूस करने में कैपेबल हो जाएगा। इंडियन मार्केट के अलावा ओला इलेक्ट्रिक की डिलीवरी अमेरिका में भी अगले साल से शुरू होने वाली है। 

ओला इलेक्ट्रिक की तमिलनाड़ू स्थित यह फैक्ट्री 500 एकड़ में फैली हुई है, जो पिछले साल दिसंबर में तमिलनाडु सरकार के साथ 2,400 करोड़ रुपये के समझौते के तहत मिली है। इस साल जनवरी में ही जमीन ओला को मिली थी, जिसे बनाने का काम फरवरी के अंत में शुरू हुआ था। कंपनी का पहला प्रोडक्ट Ola S1 इलेक्ट्रिक स्कूटर पहले ही बाजार में लॉंच किया जा चुका है। इसकी एक्स शोरूम शुरुआती कीमत ₹1 लाख रूपए रखी गई है। ऑनलाइन बुकिंग करने वाले लोगों के लिए अक्टूबर से डिलीवरी शुरू होने वाली है। कंपनी फिलहाल डायरेक्ट-टू-होम बिक्री कर रही है, जिसका अर्थ है कि यह आपको ऑन ग्राउंड डीलर पर नहीं मिलेगा। इसके लिए आपको ऑनलाइन बुकिंग करनी होगी।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Piyush Sharma

Recommended News