World Television Day: छात्रों के लिए टेलीविज़न की क्या है उपयोगिता

11/21/2019 1:24:22 PM

नई दिल्ली: हर साल 21 नवंबर को वर्ल्ड "टेलीविजन डे" के तौर पर मनाया जाता है। टीवी का सफर भले ही 95 साल पुराना हो, लेकिन यह आज अपने सबसे मॉडर्न अवतार में हमारे बीच है। टीवी एक ऐसा माध्यम है जो न सिर्फ हमको सूचना देता है बल्कि हमारा मनोरंजन भी करता है इसलिए यह हमारे लिए इतना अहम हो जाता है। 

Image result for world television

आधुनिक युग में टेलीविज़न बहुत प्रचलित है, यह एक ऐसा माध्यम है जिससे मनोरंजन, शिक्षा, खबर और राजनीति से जुड़ी गतिविधियों के बारे में सूचनाएं मिलती हैं। यह दो या तीन विमाओं में तस्वीरों और इमेज के संचार का माध्यम है। यह शिक्षा और मनोरंजन दोनों का एक स्वास्थ्यपरक स्रोत है। यह सूचना प्रदान करके समाज में अहम भूमिका निभाता है।

आखिर क्यों मनाया जाता है वर्ल्ड टेलीविजन डे

दिसंबर 1996 में संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 21 नवंबर को विश्व टेलीविजन दिवस यानी वर्ल्ड टेलीविजन डे के तौर पर मनाए जाने की घोषणा की थी। दरअसल, इसी साल 21 नवंबर को पहले विश्व टेलीविजन फॉरम की स्थापना की गई थी। इस फॉरम की स्थापना के उपलक्ष्य में ही यह दिवस मनाया जाता है। 

बच्चों के लिए टेलीविज़न कैसे है जरूरी 

शिक्षा की बात करें तो आज के समय में बच्चों के लिए जनरल नॉलेज का अहम स्त्रोत है। टीवी पर कई प्रकार के ज्ञान वर्धक प्रोग्राम भी टेलीकास्ट किये जाते हैं जिससे बच्चों और बड़ों दोनो का कई प्रकार के टॉपिक पर ज्ञान बढ़ता है। आजकल तो स्कूली शिक्षा के लिए भी कई प्रकार के नए चैनल लॉन्च हो चुके हैं जो परीक्षा की तैयारी करवाते हैं। इन चैनल पर आप घर बैठे अपने विषय के अनुसार परीक्षा के लिए तैयारी कर सकते हैं।

Image result for television students

अंग्रेजी सिखने में होती है आसानी 

सभी लोगों के लिए अंग्रेजी सिखना उतना आसान नहीं होता है। लेकिन बहुत सारे लोग टेलीविज़न देख कर बहुत आसानी से अंग्रेजी सीख लेते हैं। हमें हमारी राष्ट्रभाषा हिंदी का सम्मान करना चाहिए परंतु हमें यह भी मानना होगा कि आज के इस आधुनिक युग में अंग्रेजी बोलना-लिखना सीखना बहुत ज़रूरी है। आज टेलीविज़न पर कई प्रकार के ऐसे अंग्रेजी चैनल हैं जिनको देखकर आप आसानी से कुछ ही दिनों में अंग्रेजी बोलना सीख सकते हैं।

Related image

भारत में टीवी का पहला प्रसारण 

भारत में पहला प्रसारण दिल्ली में 15 सितंबर 1959 में प्रायोगिक तौर पर शुरू किया गया। इसमें हफ्ते सिर्फ तीन दिन कार्यक्रम आते थे। वह भी सिर्फ 30-30 मिनट के लिए। लेकिन, शुरू से ही यह लोगों का मनोरंजन और ज्ञानवर्द्धन करने लगा। जल्द ही यह लोगों की आदत का हिस्सा बन गया।

ऐसे मनाया जाता है वर्ल्ड टेलीविजन डे

वर्ल्ड टेलीविजन डे के दिन लोग आपस में मिलते-जुलते हैं और टीवी को प्रोत्साहन देने की दिशा पर बात करते हैं। पत्रकार, लेखक और ब्लॉगर टीवी की भूमिका पर चर्चा करते हैं। साथ ही इस दिन स्कूल और कॉलेजों में अतिथि वक्ताओं को बुलाया जाता है और टीवी पर बात की जाती है। 


Author

Riya bawa

Related News