2022 में इन 8 राशियों पर रहेगी शनि की नजर !

punjabkesari.in Sunday, Dec 12, 2021 - 10:06 AM (IST)

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ

Shani 2022: हमारे ज्योतिष में और नवग्रहों में शनि देव को एक प्रमुख स्थान हासिल है। इन्हें न्याय का देवता और कर्म का कारक माना गया है। ऐसा माना चाहता है कि शनि देव जिस पर प्रसन्न हो जाएं उसे रंक से राजा बना देते हैं और जिन पर उनकी क्रूर दृष्टि पड़ती है, उस व्यक्ति की मुसीबत बढ़ जाती हैं। ऐसा भी माना जाता है कि हमारे इसी जीवन में शनि हमारे कर्मों के मुताबिक हमें फल देते हैं। जन्म कुंडली में शनि की शुभ स्थिति जहां लाभ प्रदान करती है, वहीं अशुभ स्थिति जीवन में दिक्कत, परेशानी और आर्थिक संकटों का कारण भी बनती है। यही कारण है कि शनि देव को हर कोई शांत रखना चाहता है और हर कोई शनि की कृपा पाने को लालायित रहता है।

PunjabKesari Shani dev 2022

शनि देव नाराज होने पर धन में कमी लाते हैं, धन हानि कराते हैं। जॉब और बिजनेस में दिक्कतें पैदा करते हैं। यहां तक कि कई बार जॉब से भी व्यक्ति को हाथ धोना पड़ता है। इस दौरान रोग भी घेर लेते हैं, दांपत्य जीवन में भी दिक्कतें आने लगती हैं। व्यक्ति की जमा पूंजी नष्ट हो जाती है। कर्ज बढ़ जाता है।

शनिदेव अपनी साढ़ेसाती, ढैय्या और अपनी महादशा व अंर्तदशा में व्यक्ति को सबसे अधिक प्रभावित करते हैं। शनि देव व्यक्ति के कर्मों के आधार पर फल प्रदान करने वाले देवता के रूप में जाने जाते हैं।

वैदिक ज्योतिष में शनि को सबसे मंद गति से चलने वाला ग्रह माना जाता है और यह एक राशि में अढ़ाई साल तक रहते हैं। यही कारण है कि शनि का प्रभाव व्यक्ति पर अधिक समय तक रहता है।

साल 2022 में तो शनि दो बार अपनी स्थिति बदलेंगे। वे राशि परिवर्तन भी करेंगे और वक्री चाल भी चलेंगे। इनका बड़ा असर सभी राशियों पर होगा। इनमें से 8 राशियां ऐसी हैं, जिन पर पूरे साल शनि की नजर रहेगी।

शनिदेव 29 अप्रैल 2022 को मकर से निकलकर कुंभ राशि में प्रवेश करेंगे। शनि 30 साल बाद अपनी कुम्भ राशि में प्रवेश करने जा रहे हैं और उनके कुंभ में प्रवेश करते ही कर्क और वृश्चिक वालों पर शनि की ढैय्या शुरू हो जायेगी। साथ ही मीन राशि वालों पर शनि की साढ़े साती शुरू हो जाएगी।

PunjabKesari Shani dev 2022

शनि की साढ़ेसाती इन सभी राशियों को कई तरह से परेशान करेगी लेकिन कुंभ राशि के जातकों के लिए यह समय अच्छा रहेगा। शनि जब 29 अप्रैल को अपनी कुंभ राशि में आएंगे तो कुंभ राशि वालों पर मेहरबान रहेंगे और उनकी किस्मत चमका देंगे। इसके अलावा मिथुन और तुला राशि के जातकों की ढैय्या और धनु पर से शनि की साढ़ेसाती खत्म हो जाएगी। यह राहत उन्हें बहुत लाभ दिलाएगी।

साल 2022 में शनि की स्थिति में दूसरा बदलाव 12 जुलाई 2022 को होगा। इस दिन शनि वक्री चाल चलते हुए पिछली राशि मकर में प्रवेश करेंगे। यह समय एक बार फिर धनु, मिथुन और तुला राशि वालों के लिए मुश्किलें बढ़ाने वाला साबित होगा। शनि इस स्थिति में 17 जनवरी 2023 तक रहेंगे। हालांकि इस दौरान मीन, कर्क और वृश्चिक राशि के जातकों को शनि की बुरी नजर से राहत मिलेगी और उन्हें अच्छे फल की प्राप्ति होगी।

शनि की कृपा पाने के इन राशि वालों को इस मंत्र का जाप करना चाहिए- ॐ शं शनैश्चराय नमः

मंगलवार और शनिवार को हनुमान जी की पूजा करें। प्रत्येक शनिवार शनिदेव का दान करें। इस दौरान कमजोर व्यक्तियों का अपमान न करें। जरूरतमंद व्यक्तियों की मदद करें। काली चीजों का दान करें और अनैतिक कार्यों से दूर रहें।        
   
गुरमीत बेदी
gurmitbedi@gmail.com

PunjabKesari Shani dev 2022
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Niyati Bhandari

Related News

Recommended News