ऐसा है आपके घर का वातावरण तो समझ जाएं आप पर है पितरों का आशीर्वाद

9/21/2019 12:48:53 PM

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
पितृ पक्ष में जो भी धार्मिक कर्म कांड किए जाते हैं अपने पूर्वजों की आत्मा की शांति के लिए किए जाते हैं। माना जाता है कि हमारे पितृ व यानि पूर्वज कई प्रकार के होते हैं। इनमें कुछ ऐसे होते हैं जिन्हें उनका दूसरा जन्म मिल जाता है तो कुछ को पितृलोक में जगह मिल जाती है। मान्यताओं की मानें तो पितृलोक में स्थान प्राप्त चुके होते हैं पितर हर वर्ष पितृ पक्ष में अपने वंशजों को देखने आते हैं। कहा जाता है इसी दौरान वे अपने वंशजों को आशीर्वाद या श्राप देते हैं। मगर ये यानि पितृ प्रसन्न कैसे होते हैं इसके बारे में पता कैसे चलता? अगर आपके मन में भी यही प्रश्न उठ रहा है तो उसे वहीं दबा दीजिए क्योंकि हम आपके इस प्रश्न का सवाल अपने साथ लेकर आएं हैं। जिससे पढ़ने के बाद आप अच्छे से जान जाएंगे कि पितृ प्रसन्न होने पर आपको कैसे पता चल सकता है।

घर में रोज़ाना पूजा-पाठ:
अगर आप अपने घर में प्रतिदिन पूजा-पाठ करते हैं सुबह शाम ज्योत जलाते हैं तो निश्‍चित ही आपके पितृ आप पर प्रसन्न होंगे। शास्त्रों के अनुसार जिस घर में भगवान की पूजा नहीं होती, उन्हें भोग नहीं लगाया जाता उस घर को इंसानों का नहीं बल्कि राक्षसों का निवास माना जाता है।
PunjabKesariस्त्रियों का सम्मान:
जिस घर में पुरुष व अन्य सभी बुजुर्ग सभी अपने घर की बहन, बेटी, बहू व पत्नी का सम्मान करते हैं और उनके जीवन की सभी इच्छाएं पूर्ण होती हैं और निश्‍चित ही उन सभी पर पितृ प्रसन्न रहते हैं। इसके विपरीत जिस घर में स्त्री का अपमान किया जाता है, उसके आंसू गिरते हैं, उस घर के सदस्यों का सबकुछ नष्ट हो जाता है।

आज्ञाकारी संतान:
धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक जिस घर में संतान अपने माता-पिता के साथ-साथ अपने से बड़े सभी लोगों का सम्मान करते हैं, उनकी आज्ञा का पालन करते हैं। साथी ही सभी की भावनाओं का ध्यान रखते हैं उन पर पितृ हमेशा प्रसन्न रहते हैं।
PunjabKesariसपने में पितरों से आशीर्वाद:
अगर किसी को सपने में उसके पूर्वज आकर आपको आशीर्वाद दें। या फिर सपने में कोई सांप आपकी सुरक्षा करता हुआ नज़र आए तो ये इस बात की ओर इशारा करता है कि आपके पितृ आप पर प्रसन्न हैं।

कार्य में बाधाओं का न आना:
जब हर काम बिना किसी बाधा के बड़ी ही सरलता पूर्वक होने लगे तो समझ जाएं आप पर  आपके पूर्वजों की अपार कृपा है।

उपरोक्त संकेतों के अलावा जिस घर की ज्योत अच्छे से ऊपर तक स्वत: ही जलती रहे, श्राद्ध पक्ष में ही रुके हुए कार्य संपन्न हो जाएं व अचानक धन की प्राप्ति हो। घर के किसी मृत व्यक्ति को याद करते ही कोई अटका हुआ काम संपन्न हो जाएं तो इन सबका मतलब होता है कि आपको अपने पूर्वजों का आशीर्वाद प्राप्त है। बता दें वास्तु की दृष्टि से भी इन संकेटों को सही माना गया है। 
PunjabKesari


Jyoti

Related News