आपका राशिफल- 21 नवंबर, 2019

11/21/2019 9:46:47 AM

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
आज गुरुवार ता॰ 21.11.19, मार्गशीर्ष कृष्ण नवमी चंद्र सिंह राशि में रहेगा व पूर्वाफाल्गुनी नक्षत्र का योग बन रहा है। इसके अलावा आज पद्मलक्ष्मी की पूजन के लिए दिन विशेष माना जा रहा है। पौराणिक कथाओं के अनुसार देवी कमला को ही देवी पद्मलक्ष्मी के नाम से जाना जाता है। इसके अलावा इन्हें पद्मालया भी कहा जाता है। देवी पद्मलक्ष्मी का वर्ण भी पद्म जैसा ही है, क्योंकि देवी पद्मलक्ष्मी स्वयं भी पद्म से उत्पन्न हुई है। पद्म की पंखुडी की तरह इनकी बड़ी-बड़ी लुभावनी आंखे हैं। हाथ, चरण, उरू आदि सब अवयव कमल की तरह ही हैं। देवी पद्मा की कृपा से सारे जगत को सुख व सम्पत्ति प्राप्त होती है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार संध्या के समय में ईशान मुखी होकर देवी विजया लक्ष्मी का विधिवत पंचोपचार पूजन करना चाहिए, गौघृत का दीप करें, चंदन की अगरबत्ती जलाएं, गुलाब का फूल चढ़ाएं, अबीर चढ़ाएं, साबूदाने की खीर का भोग लगाएं तथा इनके विशेष मंत्र "ॐ क्लीं कमलायै नमः" से का 1 माला जाप करें। पूजन के बाद भोग किसी सुहागन को दान दे दें। इसके अलावा पंडित कमल नंदलाल से अपना आज का राशिफल जानने के लिए क्लिक करें यहां।
PunjabKesari, Devi Padmalakshmi, देवी पद्मलक्ष्मी
राहुकाल- 13:25 से 14:44
शुभ अंक- 8
शुभ रंग- काला
शुभ दिशा- पश्चिम
अभिजित मुहूर्त- 11:46 से 12:28
विशेष- गज केसरी योग में पद्मलक्ष्मी पूजन।

आज का विशेष उपाय: पद्मलक्ष्मी पर चंदन व केसर चढ़ाकर ब्राह्मण को दान करें, आर्थिक हानी से बचाव होगा।

बर्थडे का विशेष उपाय: पद्मलक्ष्मी पर मखाने की खीर चढ़कार किसी गरीब बच्चे दान दें, लाइलाज बीमारियों के इलाज होगा।
PunjabKesari, Devi Padmalakshmi, देवी पद्मलक्ष्मी
आज का महा उपाय: पद्मलक्ष्मी पर कमलगट्टे चढ़कार किसी तालाब में फैक दें, संतान हीनता से मुक्ति मिलेगी।  


Jyoti

Related News