CBI ने जब्त किया IPS अफसरों के घरों मेें बने कैंप ऑफिस के घोटाले का रिकॉर्ड

9/12/2019 10:18:15 AM

चंडीगढ़(सुशील) : आई.पी.एस. अफसरों के घरों मेें बने कैंप ऑफिस में करोड़ों रुपए के सामान के घोटाले का रिकॉर्ड सी.बी.आई. ने बुधवार को सैक्टर-9 स्थित विजीलैंस ऑफिस से जब्त कर लिया। सारा रिकॉर्ड सी.बी.आई. का इंस्पैक्टर लेकर गया है। 

शिकायत मिलने के बाद विजीलैंस ने घोटाले में कोई कार्रवाई नहीं की। चार महीने तक विजीलैंस ने शिकायत फाइलों में दबाकर रखी थी क्योंकि विजीलैंस में तैनात पूरा स्टाफ चंडीगढ़ पुलिस विभाग से डेपुटेशन पर आया है। अपने सीनियर अफसरों की जांच करने की जहमत उठाने से विजीलैंस स्टाफ बच रहा था। 

चंडीगढ़ पुलिस के हैड कांस्टेबल ने घोटाले को दबता देख मामले की शिकायत पंजाब के गवर्नर व चंडीगढ़ के प्रशासक और सी.बी.आई. को 4 सितम्बर को दी थी। प्रशासक ने शिकायत एडवाइजर को मार्क की थी। वहीं, सी.बी.आई. को शिकायत के साथ घोटाले के पूरे सबूत दिए गए। सी.बी.आई.ने घोटाले को गंभीरता से लिया और जांच शुरू कर विजीलैंस से रिकॉर्ड जब्त किया। 

आई.पी.एस. अफसरों की जांच सब इंस्पैक्टर कैसे कर सकता है?
शिकायत में कहा गया है कि विजीलैंस को कैंप ऑफिस घोटाले की शिकायत दी गई। अफसरों ने जांच सब इंस्पैक्टर को मार्क कर दी। हैरानी यह है कि आई.पी.एस. अफसरों की जांच एक सब इंस्पैक्टर कैसे कर सकता है? इसके अलावा तीन महीने तक जांच अधिकारी ने अफसरों के घरों में बने कैंप ऑफिस का कोई रिकार्ड जब्त नहीं किया। शिकायतकर्ता ने आरोप लगाए कि विजीलैंस मामले में सबूत नष्ट करने का पूरा मौका विभाग को देने में लगी हुई है। 

कैंप ऑफिस बनाने की नहीं कोई परमिशन : 
सूत्रों से पता चला कि आई.पी.एस. अफसरों के घरों में कैंप ऑफिस बनाने के कोई ऑर्डर नहीं है। अफसर इनमें अपनी जरूरत की सारी चीजें अफसर मंगाते रहते हैं। अफसर कैंप ऑफिस के लिए अगरबत्ती, नॉन स्टिक तवा, सैंडविच मेकर, मिल्क मग, स्टील जग, ब्लीचिंग पाऊडर, साइकिल पंप, प्रैशर कुकर, बेड शीट, डबल बेड शीट, पिल्लो स्लीप वेल, पिल्लो फ्लोर मेट, मिनी ब्लैंकेट समेत अन्य आइटम मंगवाते हैं।  

ऑफिस के लिए लाखों का सामान खरीदा :
अफसरों के कैंप ऑफिस के लिए वर्ष 2018 में 2 लाख छह हजार 385 रुपए के प्लाट, पोट्स समेत अन्य सामान, एक लाख नौ हजार 192 रुपए का निर्माणधीन मैटीरियल, 4 लाख 64 हजार 318 रुपए के हाऊस कीपिंग, लॉन्ड्री, क्रॉकरी और किचन आइटम्स, 24 हजार 618 रुपए के अन्य सामान, एक लाख 5348 रुपए के यूटीलिटी आइटम्स और 19 हजार 314 रुपए के स्पोर्ट्स आइटम्स खरीदे गए हैं। 

हैड कांस्टेबल कर चुका स्टेशनरी घोटाले का खुलासान :
आई.पी.एस. अफसरों के घरों में बने कैंप ऑफिस के घोटाले को उजागर करने वाला हैड कांस्टेबल इससे पहले पुलिस विभाग में स्टेशनरी घोटाले का खुलासा कर चुका है। विजीलैंस ने ही स्टेशनरी घोटाले में अज्ञात लोगों पर एफ.आई.आर. दर्ज की थी लेकिन किसी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी। 


Priyanka rana