‘स्कूलों की मांगों को लेकर निसा ने सौंपा मांग पत्र’

2021-02-23T20:47:42.467

चंडीगढ़, (पांडेय): फैडरेशन ऑफ प्राइवेट स्कूल्स एसोसिएशन और निसा के राष्ट्रीय कुलभूषण शर्मा ने चंडीगढ़ में मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव अमित अग्रवाल को मांग पत्र सौंपा। शर्मा ने कहा कि कोविड-19 की वजह से मार्च माह से ही स्कूल बंद हैं। सरकार के निर्देशानुसार तीसरी से 12वीं तक के स्कूल खोल दिए गए हैं जिससे विद्यालयों ने राहत महसूस की है। लेकिन, अधिकतर स्कूल प्राइमरी एवं प्री-प्राइमरी कक्षाएं संचालित करते हैं।

 

प्री-प्राइमरी से दूसरी कक्षा तक के स्कूल अभी तक खोलने के आदेश जारी नही हुए हैं जिससे अधिकांश स्कूल जो केवल प्री प्राइमरी कक्षाएं एवं ग्रामीण क्षेत्रों में भी संचालित कर रहे हैं लगभग बर्बादी की कगार पर पहुंच गए हैं।


मुख्यमंत्री से मांग करते हुए कुलभूषण ने कहा कि सरकार का रुख हमेशा सकारात्मक रहा है। ऐसे में सरकार से आग्रह है कि ऐसे स्कूलों को भी खोलने के आदेश जारी किए जाएं ताकि बंद होने से बच सकें। प्राइवेट स्कूल जो एग्जिसिं्टग सूची में शामिल होने से रह गए हैं और डी.ई.ओ. व डी.ई.ई.ओ. ने अनुशंसा कर दी है, उन्हें तुरंत एग्जिसिं्टग स्कूल्स की सूची में शामिल कर नोटिफिकेशन जारी की जाए। 134-ए की पूर्व वर्षों की पैंङ्क्षडग राशि तुरंत जारी की जाए ताकि आॢथक संकट से जूझ रहे प्राइवेट स्कूल राहत महसूस कर सकें। शर्मा ने कहा कि कोविड के कारण स्कूल बसें पूरे वर्ष से चली नहीं हैं और विद्यालयों में खड़ी हैं इसलिए एक वर्ष की एक्सटैंशन दी जाए।


स्कूल बसों का वर्ष 2020-21 का पैसेंजर टैक्स माफ किया जाए, क्योंकि स्कूल बसें चल ही नहीं रही हैं, आप ट्रांसपोर्ट मंत्री को पत्र लिख आदेश जारी करवाएं। नियमों में राहत देने के फैसले की नोटिफिकेशन भी तुरंत जारी की जाए। बिजली के बिल वास्तविक उपयोग के आधार पर लिए जाएं न कि एवरेज आधार पर। कोरोना परिस्थितियों को देख स्कूल बंद होने की स्थिति को देखते हुए सी.बी.एस.ई. पैटर्न पर दो विषयों में फेल को कंपार्टमैंट दी जाए।
 


News Editor

Ajesh K Dharwal

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News