सुबह सरकार के खिलाफ खुला पत्र, शाम को मुख्यमंत्री चन्नी से मिले नवजोत सिद्धू

10/18/2021 12:11:37 AM

चंडीगढ़,  (अश्वनी): सुबह पंजाब सरकार पर चौतरफा हमला करने वाले नवजोत सिंह सिद्धू शाम ढलते-ढलते मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के साथ मुलाकात करने पहुंच गए। पंजाब राजभवन के गैस्ट हाऊस में पहुंचे मुख्यमंत्री चन्नी के साथ उन्होंने काफी समय तक विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की। इस बैठक में मंत्री परगट सिंह के अलावा पंजाब कांग्रेस के को-आर्डीनेटर हरीश चौधरी भी उपस्थित रहे।

 

वैसे यह बैठक पहले ही तय थी। दिल्ली में राहुल गांधी से नवजोत सिंह सिद्धू की मुलाकात और इसके बाद कांग्रेस वर्किंग कमेटी में मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी की शीर्ष नेताओं के साथ मुलाकात में दोनों नेताओं को जल्द से जल्द आपस में बैठक करने के निर्देश दिए गए थे। पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत ने भी कहा था कि सिद्धू की तरफ से जो भी मसले उठाए जा रहे हैं, वह मुख्यमंत्री चन्नी के साथ बैठकर सुलझा लिए जाएंगे। 


इसी के चलते बैठक होनी तय थी लेकिन सुबह नवजोत सिंह सिद्धू की तरफ से लिखी गई चिट्ठी के बाद आनन-फानन में रविवार शाम को ही बैठक बुलाने का फैसला किया गया। बताया जा रहा है कि पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत ने दोनों नेताओं को बैठकर मसले सुलझाने को कहा है। हालांकि देर शाम तक चली बैठक में कई मुद्दों पर सहमति नहीं बन पाई है। बताया जा रहा है कि मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा कि सरकार जनता के तमाम वायदों को पूरा करने का हर मुमकिन प्रयास कर रही है। सिद्धू को पार्टी संगठन को मजबूत करने की दिशा में काम करना चाहिए ताकि 2022 के चुनाव में पूरी तैयारी से उतरा जा सके। मुद्दों पर सहमति न बनने के कारण कहा जा रहा है कि सिद्धू और चन्नी के बीच अगले चरण की बैठक हो सकती है। 


पहले 18, फिर 5, अब 13 सूत्रीय एजैंडा
चन्नी और सिद्धू की मुलाकात के बीच सियासी गलियारों में नवजोत सिद्धू का एजैंडा भी चर्चा में रहा। कहा गया कि सिद्धू ने पूर्व मुख्यमंत्री अमरेंद्र सिंह के कार्यकाल में 18 सूत्रीय एजैंडे की बात कहकर अपनी ही सरकार को कटघरे में खड़ा किया। इसके बाद जब सिद्धू पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष बन गए तो कै. अमरेंद्र सिंह से 5 सूत्रीय एजैंडे पर अमल करने की बात कहने लगे। कैप्टन का इस्तीफा हुआ तो अब सिद्धू ने चन्नी सरकार को घेरने के लिए कमर कस ली है लेकिन अब 18 सूत्रीय एजैंडे की बजाय सिद्धू ने सोनिया गांधी को लिखे पत्र में केवल 13 एजैंडों का जिक्र किया है। बाकी 5 सूत्र कौन से है, इसका कोई जिक्र नहीं किया गया है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Taranjeet Singh

Related News

Recommended News