कैथल के नोबल ब्लड सैंटर में मिली अनियमितताएं, डॉक्टर पर दर्ज होगी एफ.आई.आर. : विज

punjabkesari.in Sunday, May 15, 2022 - 10:12 PM (IST)

चंडीगढ़,(बंसल): हरियाणा के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री  अनिल विज जिनके पास खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग का भी प्रभार है, ने कहा कि हरियाणा खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग एवं केंद्र सरकार के अधिकारियों की संयुक्त टीम ने नोबल ब्लड सैंटर, कैथल पर छापा मारा और वहां विभिन्न उल्लंघनाएं पाई गई हैं और आरोपी डाक्टर के विरुद्ध एफ.आई.आर. दर्ज करवाई जाएगी। 

 


उन्होंने बताया कि ब्लड सैक्टर के खिलाफ सूचना प्राप्त हुई थी कि वहां पर नियुक्त मैडीकल अधिकारी डाक्टर एम.आर. मित्तल सैंटर पर यदा-कदा जाते हैं जबकि वह गोल चौक, कैथल पर मित्तल पैथोलॉजी लैब के संचालक एवं पैथोलॉजिस्ट हैं। डा. मित्तल ने दोनों फॉर्म पर मैडीकल ऑफिसर के तौर पर हस्ताक्षर किए हुए हैं और रक्तदाता की मैडीकल एग्जामिनेशन करके उन्हें रक्तदान हेतु उपयुक्त पाया है। डा. मित्तल ने अपने हाथ से लिखे हुए बयान भी दिए और शपथ पत्र भी दिया है और 30 हजार रुपए प्रतिमाह वेतन पर नोबेल ब्लड सैंटर, कैथल पूर्णकालिक एम्प्लॉयमैंट होना स्वीकार किया है तथा कहा कि सभी कार्य उनकी हाजिरी में होते हैं।

 


वहीं, दूसरी ओर मित्तल लैब द्वारा जारी रिपोर्ट पर उसके (डा. मित्तल) हस्ताक्षर पाए गए है। ब्लड सैंटर पर अन्य 20 प्रकार की उल्लंघनाएं भी पाई गई जोकि गंभीर हैं। डा. मित्तल के विरुद्ध थाना सिविल लाइन, कैथल में गलत बयानी करने, झूठा शपथपत्र देने एवं एक साथ में ब्लड सैंटर व पैथोलॉजी लैब में कार्य करने के संबंध में एफ.आई.आर. दर्ज करवाने हेतु प्रार्थना पत्र दिया गया है। 
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Ajay Chandigarh

Related News

Recommended News