CHB ने ड्राइव चला तीन माह में कमाए 21.32 लाख रुपए

2019-12-12T12:45:17.823

चंडीगढ़(राजिंद्र) : चंडीगढ़ हाऊसिंग बोर्ड ने पिछले तीन माह में अपने मकानों में हुई वायलेशन तोडऩे से की कार्रवाई से ही 21.32 लाख रुपए की कमाई की है। इसमें से 10.52 लाख रुपए की बोर्ड रिकवरी कर चुका है, जबकि 10.79 लाख रुपए की रिकवरी करनी बाकी है। 

बोर्ड द्वारा शहर भर में मकानों में लोगों द्वारा की गई वायलेशन के खिलाफ ड्राइव चलाई जा रही है। इस ड्राइव में अगर लोग खुद वायलेशन हटा लेते हैं, तो ठीक है। अगर वह ऐसा नहीं करते तो बोर्ड द्वारा उसे हटाया जाता है और उस पर आया खर्च भी अलॉटियों से वसूला जा रहा है। 

इस संबंध में बोर्ड के एक अधिकारी ने बताया कि लोगों को नोटिस देकर वाएलेशन हटाने के लिए समय दिया जाता है, लेकिन अगर उसके बावजूद भी बोर्ड को ही ये वाएलेशन  हटानी पड़ती है, तो इसका खर्च अलॉटियों से ही वसूलने का फैसला लिया गया था। 

ड्राइव में मैनपावर और मशीनरी पर काफी खर्च आता है, जिसके चलते ही इस साल से लोगों को डिमांड नोटिस भेजने शुरू कर दिए थे। बोर्ड ने डिमांड अमाऊंट जमा न करवाने वालों के खिलाफ जीरो टॉलरैंस अपनाने का फैसला लिया है और सख्त कार्रवाई करने की तैयारी की है। 

 87 ने रिकवरी अमाऊंट जमा करवा दिया :
सी.एच.बी. उन 173 लोगों को डिमांड नोटिस भेज चुका है, जिनके घरों से बोर्ड द्वारा पिछले  कुछ महीनों से वायलेशन हटाई गई है। इसमें से 87 लोगों ने रिकवरी अमाऊंट जमा करवा दिया है, जबकि 86 लोगों ने अभी तक ये अमाऊंट जमा नहीं करवाया है। 

बोर्ड द्वारा 1 अगस्त, 2019 से उन सभी लोगों को डिमांड नोटिस भेजने शुरू किए थे, जिनके घरों में ड्राइव चलाई गई थी। बोर्ड द्वारा फ्रैश कंस्ट्रक्शन के खिलाफ ही ये ड्राइव शुरू की गई थी, जबकि पुरानी वायलेशन पर अभी कार्रवाई नहीं की जा रही है। ऐसे सभी लोगों को बोर्ड की तरफ से अस्थायी राहत दी गई है। इसके अलावा फ्रैश केस में बोर्ड की तरफ से मौके पर विजिट करके चालान जारी किया जाता है। 

256 लोगों को निर्माण हटाने के भेजे गए हैं नोटिस :
बोर्ड की तरफ से 256 लोगों को अवैध निर्माण हटाने के लिए ड्राइव के नोटिस भेजे गए हैं, जिसमें से 173 लोगों के खिलाफ बोर्ड कार्रवाई कर चुका है। इसके अलावा 31 लोगों ने कार्रवाई के डर से खुद ही अपने घर से निर्माण हटा लिया। 

इससे पहले बोर्ड की टीम ने 267 लोगों को मौके पर चालान भी जारी किया गया था, जिसके लिए इन्फोर्समेंट विंग की दो टीमें गठित की गई थी। इसके अलावा बिल्डिंग नियमों के तहत 14 लोगों के निर्माण को नियमित भी किया गया है। इसमें 2 लोगों को शोकॉज नोटिस भेजा गया है, जबकि 43 केस अभी पैंडिंग पड़े हैं। इसके अतिरिक्त 3 केस कोर्ट में भी लंबित हैं। 


Priyanka rana

Related News