सीटीयू बसों के पास एक्सटेंड करने की मांग, लोगों में रोष

2020-06-05T10:11:06.98

चंडीगढ़ (राजिंद्र) : चंडीगढ़ प्रशासन द्वारा लॉक डाउन में छूट के साथ ही शहर में चंडीगढ़ ट्रांसपोर्ट अंडरटेकिंग (सीटीयू) की बसों की सर्विस शुरु कर दी है। लेकिन लॉकडाउन के दौरान जिन लोगों के पास एक्सपायर हो गए हैं, उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जिसके चलते लोगों में रोष है और उन्होंने प्रशासन से पास एक्सटेंड करने की मांग की है। वहीं सीटीयू बसों में वेलिड पास भी स्वीकार नहीं करने का मामला सामने आया है, जिस पर विभाग का कहना है कि वह इसे चैक करवाएंगे। उन्होंने वेलिड पास स्वीकार करने के निर्देश दिए हुए हैं।

 

इस संबंध में डेराबस्सी निवासी हरविंदर सिंह ने बताया कि वह पीजीआई में डाटा एंट्री ऑपरेटर का काम करते हैं और रोजाना सीटीयू बस से ही सफर करते हैं। उन्होंने सीटीयू बस का पास बनाया था, जो 19 मार्च को उन्हें इश्यू हुआ था और 18 जून तक एक्सपायर होना है। लेकिन लॉकडाउन के कारण सीटीयू बसों के चलने पर रोक लगा दी गई थी, लेकिन अब दोबारा बसें शुरु की गई है तो उनके पास स्वीकार नहीं किए जा रहे हैं, बल्कि उनसे पैसे लिए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि एक हजार रुपए से ऊपर खर्च करके उन्होंने पास बनाया था, लेकिन फिर भी उन्हें किराया देना पड़ रहा है। 

 

उन्होंने कहा कि जीरकपुर से भी एक साइड का 35 रुपए ही किराया लिया जा रहा है, जबकि पहले डेराबस्सी का भी इतना ही किराया लिया जा रहा था। लेकिन अब जीरकपुर तक ही बस आ रही है। उन्होंने बताया कि जब वह संपर्क सेंटर पर जाते हैं तो नये पास बनाए नहीं जा रहे हैं।

 

उन्होंने बताया, उनके साथ पीजीआई के अन्य कर्मचारियों को भी इसी समस्या का सामना करना पड़ रहा है। उनका अधिक वेतन तो है नहीं, इसलिए वह बस का उपयोग करते हैं। लेकिन अब किराए में ही उनके इतने पैसे चले जाते हैं। जीरकपुर निवासी रेनू शर्मा ने बताया कि उन्हें भी इसी समस्या का सामना करना पड़ रहा है, क्योंकि जो पास एक्सपायर हो गए हैं, उन्हें भी स्वीकार नहीं किया जा रहा है,

 

जबकि लॉक डाउन के दौरान जब उन्होंने इसका इस्तेमाल ही नहीं किया तो इसे एक्सटेंड किया जाना चाहिए। साथ ही जहां तक बस का रुट है, पहले जितने ही किराया वसूलना चाहिए। लॉकडाउन के कारण पहले ही लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, क्योंकि उनका काम प्रभावित हो रहा है। वहीं दूसरी तरफ प्रशासन की इस प्रक्रिया से उन्हें और परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।


पास एक्सटेंड करने पर चल रहा है विचार :
इस संबंध में डायरेक्टर ट्रांसपोर्ट उमा शंकर गुप्ता ने बताया कि वह पास एक्सटेंड करने पर काम कर रहे हैं। जो पास लॉकडाउन के दौरान एक्सपायर हो गए थे, उन्हें दो माह के लिए एक्सटेंड कर दिया जाएगा। साथ ही पास बनाने की भी प्रक्रिया शुरु कर दी है, तांकि लोग नये पास बनवा जा सकें। वहीं वेलिड पास न स्वीकार करने के मामले पर उन्होंने कहा कि वह चैक करवाएंगे। उन्होंने ऐसे सभी पास स्वीकार करने के कर्मचारियों को निर्देश दिए हुए हैं। किसी ने गलती से पास स्वीकार नहीं किया तो वह इस संबंधित दोबारा आदेश जारी कर देंगे।
 


pooja verma

Related News