छह बार की विश्व मास्टर एथलीट मान कौर का निधन

2021-07-31T23:02:48.477

चंडीगढ़, (लल्लन यादव): छह बार की विश्व मास्टर्स चैंपियनशिप की स्वर्ण पदक विजेता और कई एशियाई मास्टर्स चैंपियनशिप की पदक विजेता एथलीट 105 वर्षीय मान कौर ने शनिवार दोपहर 1 बजे के करीब डेरा बस्सी अस्पताल में अंतिम सांस ली। इस संबध में जानकारी देते हुए उनके बेटे गुरदेव सिंह ने बताया कि माता को इस साल की शुरुआत में गाल ब्लैडर और लीवर कैंसर का पता चला था। जिसके बाद इनका इलाज डेराबस्सी के आयुर्वेदा पंचकर्मा अस्पताल चल रहा था। लेकिन शनिवार को अचानक उनकी तबियत खराब हुई और एक बार उल्टी हुई जिसके बाद उनकी हालत और खराब हो गई। उन्होने बताया कि उनका अंतिम संस्कार रविवार को सैक्टर-25 श्मशान घाट में दोपहर 1 बजे के करीब किया जाएगा। 


फरवरी में हुई थी कैंसर की पुष्टि
मान कौर के बेटे गुरदेव सिंह ने बताया कि उनकी माता कैंसर का सामना कर रही थीं। कैंसर गाल ब्लैडर से फैलते हुए लीवर तक पहुंच गया था। मान कौर को पहले पी.जी.आई. में चैकअप करवाया गया था, जहां पर इसी साल फरवरी में गाल ब्लैडर के कैंसर की पुष्टि हुई थी। उम्र ज्यादा होने की वजह से डॉक्टर्स ने उन्हें कीमोथैरपी देने से मना कर दिया था। मान कौर के बेटे गुरदेव सिंह ने बताया कि मां को जून के अंतिम सप्ताह में इलाज के लिए शुद्धि आयुर्वेदा पंचकर्मा अस्पताल डेराबस्सी में भर्ती करवाया गया था। उनकी हालत में थोड़ा सुधार भी हुआ था लेकिन शनिवार को अचानक तबीयत बिगड़ गई। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह की ओर से उन्हें 5 लाख रुपए का चैक डी.सी. पटियाला के माध्यम से मिला था। शिरोमणि अकाली दल के विधायक एन.के. शर्मा ने भी एक लाख का चैक दिया था। 


93 साल की उम्र में दौडऩा शुरू किया 
पटियाला से मान कौर और उनके पति 1960 के दशक में चंडीगढ़ शिफ्ट हो गए और 93 साल की उम्र में उन्होंने एथलैटिक्स शुरू किया। अपने बेटे गुरदेव सिंह के आग्रह पर उन्होंने दौडऩा शुरू किया और साल 2007 में चंडीगढ़ मास्टर्स एथलैटिक्स मीट में अपना पहला पदक जीता। इसके बाद उन्होंने 2011 में नैशनल मास्टर्स एथलैटिक्स मीट में 100 मीटर के साथ-साथ 200 मीटर में स्वर्ण पदक जीता था। उसी वर्ष, वे अमरीका में विश्व मास्टर्स एथलैटिक्स चैम्पियनशिप में 100 और 200 मीटर में चैम्पियन बनीं और उन्हें सर्वश्रेष्ठ एथलीट के रूप में भी चुना गया। साल 2017 में ऑकलैंड में वल्र्ड मास्टर्स एथलैटिक्स चैम्पियनशिप में 100 से अधिक आयु वर्ग में 100 मीटर में चैम्पियन बनने की उनकी उपलब्धि ने उन्हें सुर्खियों में ला दिया था। 


‘स्काई वॉक’ कर बनाया था रिकॉर्ड 
मान कौर ने ऑकलैंड में स्काई टावर पर ‘स्काई वॉक’ कर रिकॉर्ड बनाया था। उस समय उनकी उम्र 102 साल थी। यह स्काई टावर शहर से 192 मीटर की ऊंचाई पर था। इस विश्व रिकॉर्ड को तोडऩे में मान कौर के 80 साल के बेटे गुरदेव सिंह ने उनका साथ दिया। मान ने अपने बेटे का हाथ पकड़कर यह ‘स्काई वॉक’ की। ऑकलैंड में मान कौर ने गिनीज बुक ऑफ वल्र्ड रिकॉर्ड में भी अपना नाम दर्ज कराया था। यहां उन्होंने जेवेलिन थ्रो में 5 मीटर का स्कोर लगाकर गोल्ड मैडल जीता। उन्होंने सैकरामेंटो में पहली बार वल्र्ड मास्टर्स गेम्स में हिस्सा लिया था। 100 और 200 मीटर में दो गोल्ड जीतकर उन्होंने रिकॉर्ड बुक में पहली बार इंडिया का नाम दर्ज कराया था। 2011 में ही उन्हें एथलीट ऑफ द ईयर चुना गया। 


हरियाणा के राज्यपाल ने जताया शोक
हरियाणा के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने भी मान कौर के निधन पर शोक व्यक्त किया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि मान कौर के निधन से विश्व खेल जगत को नुक्सान हुआ है। वे वह युवाओं के लिए प्ररेणा स्रोत थीं। ईश्वर परिवार को यह दुख सहने की शक्ति दे। वहीं, डेराबस्सी के विधायक एन.के. शर्मा ने भी मान कौर के निधन पर शोक व्यक्त किया। 


कई बड़ी हस्तियों ने शोक प्रकट किया 
खेल-जगत के लिए ये बड़ी ही दु:खद खबर है। सुप्रसिद्ध तेज धाविका 105 वर्षीय बेबे मान कौर का डेरा बस्सी में निधन हो गया है। उनका स्वर्णिम योगदान सदैव इतिहास में दर्ज रहेगा। ईश्वर उन्हें अपने श्री चरणों में स्थान दें।


-मनोहर लाल, मुख्यमंत्री, हरियाणा 
विश्व प्रसिद्ध बुजुर्ग खिलाड़ी 105 वर्षीय बेबे मान कौर के निधन का समाचार बेहद दुखद है। खेल जगत ने युवा पीढ़ी के एक आदर्श को खो दिया है। आपकी यादें सदैव हमारा मार्गदर्शन करती रहेंगी। ईश्वर से प्रार्थना करता हूं कि बेबे जी की दिवंगत आत्मा को श्रीचरणों में निवास दें। 


संदीप सिंह, खेल मंत्री, हरियाणा
विश्व में भारत को ख्याति दिलाने वाली 105 वर्षीय अंतर्राष्ट्रीय एथलीट मान कौर के निधन के समाचार से मन व्यथित है। खिलाडिय़ों के लिए वो प्रेरणास्त्रोत थीं। ईश्वर से प्रार्थना है कि उन्हें अपने श्रीचरणों में स्थान प्रदान करें।
-राज्यवर्धन सिंह राठौड़, सांसद 
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

AJIT DHANKHAR

Recommended News