See More

स्पैशल ट्रेन से 1237 लोग बिहार गए,आज तीन जिलों के लिए रवाना होगी

2020-05-23T11:55:32.283

चंडीगढ़ (लल्लन यादव) : लॉकडाऊन के कारण शहर में फंसे प्रवासी मजदूरों का उनके राज्य भेजने के लिए प्रशासन ने दूसरा चरण शुरू कर दियाहै।बिहार के मोतिहारी जिले और ट्राईसिटी मे फंसे हुए को सिक्किम रवाना 45 पहले सभी श्रमिकों का चंडीगढ़ कालेज ऑफ इंजीनियरिंग एंड टैक्नोलॉजी- 26 में मैडीकल चैकअप किया गया। श्रमिक यहां सुबह 8 बजे से ही पहुंचना शुरू हो गए थे। बिहार के मोतिहारी, सिवान व मुजफ्फरपुर के लिए शाम 3.15 बजे ट्रेन रवाना हुई, जिसमें 1237 लोगों को भेजा गया। 

 

अधिकारियों का कहना है कि ट्रेन में 1600 श्रमिकों के जाने की व्यवस्था की गई थी लेकिन सिर्फ 1237 लोग ही वैध पाए गए। वहीं, सिक्किम के 253 स्टूडैंट्स व कुछ श्रमिकों को भी भेजा गया | प्रशासन की तरफ से बिहार के तीन जिलों के लिए श्रमिक स्पैशल ट्रेन शनिवार को भी भेजी जाएगी। यह बिहार के गया, धनबाद होते हुए झारखंड जाएगी।

 

पी.आर.एस. काऊंटर भी खोल दिए
यात्री सेवाओं की श्रेणीबद्ध बहाली के लिए 1 जून से 100 जोड़ी ट्रेनें चलाने की शुरुआत की जाएगी। आई.आर.सी.आर.सी. की वैबसाइट और एप्प के माध्यम से पहले ही बुकिंग शुरू कर दी गई है। अब मंडल रेल प्रबंधक के मार्गदर्शन में अंबाला डिवीजन ने शुक्रवार से सभी ए1 और एएंड बी श्रेणी स्टेशन चंडीगढ़, कालका और ऊना के पी.आर.एस. काऊंटर भी खोल दिए हैं। आरक्षित टिकटों की बुकिंग की सुविधा के लिए कल से सभी मौजूदा पी.आर.एस. औरयू.टी.एस. सह पी.आर.एस. काउंटरों को खोल दिया गया। 

 

सोशल डिस्टैंसिंग और स्वच्छता प्रोटोकॉल का पालन करना अनिवार्य होगा। 25 मई के बाद से यात्रीगण लॉकडाऊन से पहले बुक किए गए टिकटों के लिए इन काऊंटरों से रिफंड प्राप्त कर सकेंगे। वरिष्ठ मंडल वाणिज्यिक प्रबंधक हरिमोहन ने बताया कि ये काउंटर लॉकडाउन अवधि से पहले की ही तरह कार्यात्मक रहेंगे। यह सुनिश्चित किया जाएगा कि यात्री टिकट की बुकिंग के लिए कतार में खड़े रहते हुए दो गज की दूरी बनाए रखें।


pooja verma

Related News