गेहूं बुवाई का रकबा अब तक 4.28 प्रतिशत बढ़कर 202.54 लाख हेक्टेयर

2019-12-07T14:08:08.527

नई दिल्लीः गेहूं की बुवाई की गति बढ़ रही है तथा अब तक इसका रकबा सालाना आधार पर 4.28 प्रतिशत बढ़कर 202.54 लाख हेक्टेयर पर पहुंच गया है। शुक्रवार को कृषि मंत्रालय द्वारा जारी ताजा आंकड़ों में यह जानकारी दी गई है। पिछले साल इस समय गेहूं की बुवाई का रकबा 194.21 लाख हेक्टेयर तक पहुंचा था।

मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के अनुसार, फसल वर्ष 2019-20 (जुलाई-जून) के चालू रबी (सर्दियों) सत्र में पिछले साल के इसी समय के मुकाबले 8.34 लाख हेक्टेयर अधिक रकबे में गेहूं की बुवाई हुई है। चालू सत्र में अभी तक 10.17 लाख हेक्टेयर में धान की बुआई की गई है जबकि साल भर पहले की समान अवधि में यह रकबा 8.42 लाख हेक्टेयर ही था। मोटे अनाज का रकबा 35.56 लाख हेक्टेयर तक पहुंचा है। पिछले साल इस समय तक 32.75 लाख हेक्टेयर में मोटे अनाज बोए गए थे। हालांकि, दलहन बुवाई का रकबा पिछले साल इसी समय के 111.90 लाख हेक्टेयर के मुकाबले चालू रबी सत्र में 105.16 लाख हेक्टेयर है।

तिलहनों की बुवाई का रकबा, पहले के 66.10 लाख हेक्टेयर के मुकाबले चालू रबी सत्र में 65.05 लाख हेक्टेयर है। आंकड़ों के अनुसार, सभी रबी फसलों की बुवाई का कुल रकबा 418.47 लाख हैक्टेयर तक पहुंच गया है जो साल भर पहले की समान अवधि में 413.36 लाख हैक्टेयर था। 


Supreet Kaur

Recommended News