''अवैध शराब'' के धंधे में ''राजनीतिक दलों से जुड़े लोग'' भी शामिल

6/9/2021 4:44:05 AM

आज समूचे देश में शराब और अन्य नशों का सेवन लगातार बढ़ रहा है तथा उसी अनुपात में अपराध भी बढ़ रहे हैं। शराब के इस्तेमाल से बड़ी संख्या में महिलाओं के सुहाग उजड़ रहे हैं, बच्चे अनाथ हो रहे हैं और देश की युवा पीढ़ी को नशों का घुन खोखला कर रहा है। 

शराब के दुष्प्रभावों को देखते हुए ही राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने पराधीनता के युग में घोषणा की थी कि ‘‘यदि भारत का शासन आधे घंटे के लिए भी मेरे हाथ में आ जाए तो मैं शराब की सभी डिस्टिलरियों और दुकानों को बिना मुआवजा दिए ही बंद कर दूंगा।’’ 

यही नहीं, गांधी जी ने महिलाओं को भी स्वाधीनता आंदोलन से जोड़ा और देश के कोने-कोने में महिलाओं ने दूध पीते बच्चों तक को गोद में लेकर शराबबंदी की मांग के साथ-साथ विदेशी कपड़ों की होली जलाई और अनेक महिलाओं ने 2-2, 3-3 वर्ष की कैद भी काटी थी। लेकिन आज महात्मा गांधी के नामलेवा राजनीतिक दलों के नेता बड़े पैमाने पर शराब के धंधे में शामिल पाए जा रहे हैं जिसके चंद उदाहरण निम्र में दर्ज हैं : 

* 6 फरवरी, 2020 को दिल्ली की अपराध शाखा द्वारा 15 पेटी अवैध अंग्रेजी शराब की खेप की बरामदगी में ‘आम आदमी पार्टी’ की दिल्ली सरकार में परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत के भाई हरीश गहलोत का नाम सामने आने पर उसके विरुद्ध पुलिस में रिपोर्ट दर्ज करवाई गई।
* 19 मई, 2020 को पटियाला जिले के पाबरी गांव में अकाली नेता दर्शन सिंह को गिरफ्तार करके उसके ट्यूबवैल के स्टोर से 4000 लिटर कच्ची शराब जब्त की गई।

* 24 मार्च, 2021  को कौशा बी जिले की पुलिस ने 363 बोतल मिलावटी शराब तथा 20 लिटर स्पिरिट के साथ भाजपा नेता अजय पटेल को पकड़ा।
* 12 अप्रैल, 2021 को जौनपुर में भाजपा नेता तथा पूर्व सभासद मनीष सेठी का बेटा माणिक सेठी अपने घर में शराब बेचता पकड़ा गया। 

* 8 मई, 2021 को मध्य प्रदेश के सबलगढ़ में लॉकडाऊन के दौरान शराब के ठेके बंद रखने के आदेश के बावजूद भारतीय जनता युवा मोर्चा के पूर्व जिला अध्यक्ष विजय जादौन की भागीदारी में चलाए जा रहे शराब के ठेके पर शराब बेचने के आरोप में विजय जादौन सहित 7 लोगों पर आबकारी कानून के अंतर्गत केस दर्ज किया गया।
* 9 मई, 2021 को बिहार के मधुबनी में भाजपा नेता शकील अहमद के मकान पर छापा मार कर पुलिस ने उसे 60 बोतल नेपाली देसी शराब के साथ गिरफ्तार किया। 

* 18 मई, 2021 को तरनतारन के दयालपुर गांव में एक कांग्रेस नेता और पंचायत सदस्य निरहे सिंह तथा उसके साथी रणजीत सिंह को 4 लाख मिलीलिटर अवैध शराब और 400 किलो लाहन के साथ पकड़ा गया। 

* 28 मई, 2021 को उत्तर प्रदेश के हरदोई में समाजवादी पार्टी के नेता सुभाष पाल को पुलिस ने ‘शराब माफिया’ घोषित कर दिया। ‘मल्लावां बिलग्राम’ से समाजवादी पार्टी के टिकट पर विधानसभा का चुनाव लड़़ चुके सुभाष पाल के विरुद्ध हरदोई जिले में अवैध शराब निर्माण और तस्करी सहित 22 आपराधिक मुकद्दमे दर्ज हैं।
* 4 जून, 2021 को बरसाना में एक भाजपा नेता राधा चरण फौजी की दुकान से पुलिस ने 30 पेटी अवैध शराब तथा शराब बनाने में प्रयुक्त सामान जब्त करके भाजपा नेता के 2 बेटों बांके और कपिल सहित 4 लोगों को पकड़ा। 

* 6 जून, 2021 को अलीगढ़ क्षेत्र में जहरीली शराब से 108 लोगों की मौतों के मु य आरोपी भाजपा नेता ऋषि शर्मा को पुलिस ने गिर तार किया। इस सिलसिले में रालोद नेता अनिल चौधरी से भी पूछताछ जारी है। 

*  7 जून, 2021 को पुलिस तथा आबकारी विभाग की टीम ने हलका फतेहगढ़ चूडिय़ां के कांग्रेस बी.सी. सैल के प्रधान लाल सिंह के गांव धर्मकोट बग्गा स्थित मकान पर छापा मार कर चालू भट्ठी के अलावा 1400 लिटर लाहन, 80 बोतल देसी शराब बरामद की। इस कार्रवाई के दौरान लाल सिंह के दो बेटों ने पुलिस टीम पर हमला कर दिया और एक कांस्टेबल की वर्दी फाड़ दी जिस पर पुलिस ने दोनों के विरुद्ध केस दर्ज करके एक को गिर तार कर लिया। 

अवैध शराब के धंधे में आम अपराधियों के साथ-साथ राजनीतिक दलों से जुड़े लोगों का शामिल होना निश्चय ही चिंताजनक और दुखद है। यदि जनता के सेवक ही गलत काम करने लगेंगेे तो फिर आम लोगों से क्या आशा की जा सकती है। अत: राजनीतिक दलों को अपने साथ जुड़े ऐसे लोगों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई करने के साथ-साथ उन्हें प्रशासन से दंडित करवाने में सक्रिय भूमिका निभानी चाहिए ताकि दूसरों को भी नसीहत मिले और वे ऐसे गलत कामों से बाज आएं।—विजय कुमार 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static