‘विपक्ष आपके समक्ष’ जन-आंदोलन एक अनोखा मंच

punjabkesari.in Wednesday, Dec 01, 2021 - 06:26 AM (IST)

अक्तूबर में अपने कार्यकाल के 2 वर्ष पूरे करने वाली हरियाणा की भाजपा-जजपा गठबंधन सरकार की राजनीतिक गतिविधियां करीब डेढ़ वर्ष तक कोरोना महामारी और किसान आंदोलन के कारण लगभग ठप्प हो गई थीं। इस बीच जनता और सरकार के बीच संवादहीनता के चलते सरकार की मनमानी बढ़ती गई। कार्यशैली में पारदर्शिता और संवेदना की कमी के कारण बेलगाम भ्रष्टाचार, महंगाई, बेरोजगारी, चरमराई कानून व्यवस्था से समाज में असंतोष और असुरक्षा बढ़ी है। 

समस्याओं की अभिव्यक्ति और उनसे राहत का कोई मंच जनता को उपलब्ध नहीं था। ऐसे वातावरण में कांग्रेस विधायक दल ने अपने नेता पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा के नेतृत्व में ‘विपक्ष आपके समक्ष’ की पहल, जो जनसम्पर्क, जन-भावना और जन समस्याओं को उजागर करने का एक नया राजनीतिक प्रयोग है, शुरू की। प्रजातंत्र में विपक्ष की भूमिका अहम है। मजबूत व जागरूक विपक्ष सफल और उत्तरदायी लोकतंत्र की पहली आवश्यकता है। 

सरकार की खामियों-नाकामियों को उजागर करना, क्रियाकलापों पर निगरानी रखना, इसकी नीतियों और कार्यक्रमों की गहन समीक्षा करना और आमजन की कठिनाइयों, आवश्यकताओं, आकांक्षाओं और भावनाओं से सरकार को अवगत कराना, सरकार की जनविरोधी नीतियों का विरोध करना और जनहित में कार्य करने के लिए बाध्य करना आदि जिम्मेदार विपक्ष की जिम्मेदारी है। साथ ही सामूहिक संकट और प्रदेश हित में सरकार को अपेक्षित सकारात्मक सहयोग भी विपक्ष का दायित्व है जो कांग्रेस ने कोरोना महामारी से निपटने और सतलुज यमुना लिंक नहर के मुद्दे पर निभाया। 

करनाल व जींद में सफल आयोजन के बाद हरियाणा के सभी 22 जिलों में ‘विपक्ष आपके समक्ष ‘कार्यक्रम की अगली कड़ी में यह आयोजन नूह में होगा। विपक्ष आपके समक्ष कार्यक्रम के बतौर संयोजक, कांग्रेस के सभी विधायक साथियों के साथ मैंने अनुभव किया है कि यह कार्यक्रम जहां आम जन को अपनी व्यथा खुलकर व्यक्त करने का मंच प्रदान करता है, वहीं इसमें सरकार की जन-विरोधी नीतियों और कार्यकलापों के विरुद्ध संघर्ष की सार्थकता नजर आती है।

स्वार्थपूर्ण और संकीर्ण राजनीतिक सोच के कारण आलोचकों का यह कहना कि यह कांग्रेस पार्टी का कार्यक्रम नहीं है, इस आयोजन की वैधता, आवश्यकता, प्रासंगिकता और प्रभाव को कम नहीं करता। कांग्रेस सिर्फ पदाधिकारियों, सांसदों व विधायकों की पार्टी नहीं, बल्कि यह आमजन का आंदोलन है, जो इसकी विचारधारा और नीतियों में आस्था रखते हैं। इस जनमत के प्रवाह पर किसी व्यक्ति या वर्ग विशेष द्वारा स्वामित्व का दावा पार्टी हित में नहीं है। 

‘विपक्ष जनता के हाथ में ऐसी लोकतांत्रिक ताकत है जिसके माध्यम से जनता सरकार को सतर्क रखती है और उसे सुस्त व स्वार्थी होने से रोकती है। ‘विपक्ष आपके समक्ष’ कार्यक्रम प्रचार के परंपरागत तरीकों में एक अभिनव परिवर्तन है। इस माध्यम से जनता की नब्ज टटोलने का एक प्रमाणिक तरीका है। जनता को भी अपनी तकलीफों, कठिनाइयों और दुख-दर्द की अभिव्यक्ति के लिए मंच प्रदान करता है, जिससे उनकी समस्याएं सरकार के संज्ञान में आती हैं। 

इसके द्वारा मूक लोगों की आवाज उनके चयनित प्रतिनिधियों के माध्यम से विधानसभा में गूंजती है। ‘विपक्ष आपके समक्ष’ कार्यक्रम के माध्यम से जनता मौजूदा सरकार के घपले-घोटाले, निष्क्रियता, महंगाई, बेरोजगारी से राहत पाना चाहती है। इस कार्यक्रम में भारी जनभागीदारी इस बात का स्पष्ट संकेत है कि हरियाणा की जनता अपेक्षा रखती है कि विपक्ष उनकी आशाओं और आकांक्षाओं के अनुरूप ढलने में सक्षम है। इस कार्यक्रम के जरिए जहां हर जन में नए उत्साह और नई ऊर्जा का संचार हुआ है, वहीं उनकी आवाज को विधानसभा तक पहुंचाने के लिए एक मंच मिला है।-गीता भुक्कल(विधायिका एवं पूर्व शिक्षा मंत्री, हरियाणा) 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Related News

Recommended News