चीनी पर सबसिडी को लेकर भारत के खिलाफ डब्ल्यू.टी.ओ. पहुंचा ऑस्ट्रेलिया

मेलबोर्न:ऑस्ट्रेलिया ने भारत के खिलाफ चीनी पर सबसिडी को लेकर विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यू.टी.ओ.) में शिकायत दर्ज कराई है। उसका मानना है कि भारत सरकार की सबसिडी नीति से दुनियाभर में चीनी की कीमतों में ‘भारी गिरावट’ आई है जिसका नुक्सान ऑस्ट्रेलियाई उत्पादकों को हुआ है। ऑस्ट्रेलिया का आरोप है कि इसी सबसिडी के चलते इस साल भारत में चीनी का उत्पादन बढ़ कर 3.5 करोड़ टन तक पहुंच गया है जबकि इसका औसत उत्पादन 2 करोड़ टन सालाना है। आस्ट्रेलिया का आरोप है कि भारत कृषि सबसिडी के मामले में डब्ल्यू.टी.ओ. की सीमाओं का उल्लंघन कर रहा है।

ऑस्ट्रेलिया के व्यापार मंत्री सिमॉन बीरमिंघम ने कहा कि भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा चीनी उत्पादक है। चीनी पर अपनी नीतियों के माध्यम से वैश्विक बाजार को बिगाडऩे की जिम्मेदारी उसी की है। बीरमिंघम ने कहा, ‘‘हमने हमारे उद्योग की ङ्क्षचताओं को भारत सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों के स्तर पर कई बार उठाया है लेकिन उनका समाधान नहीं होने से हमें निराशा हुई। अब हमारे सामने खुद के गन्ना किसानों और चीनी मिलों के हितों की रक्षा के लिए खड़ा होने के अलावा कोई विकल्प नहीं है।

Related Stories:

RELATED WTO में सुधार लाने में अहम भूमिका निभा सकता है भारत: फिक्की