लाखों रुपए खर्च किए जाने के बाद भी स्ट्रीट लाइटें बनी सफेद हाथी

जुलाना(पांचाल):जुलाना में नगरपालिका द्वारा लगाई गई स्ट्रीट लाइटें अब सफेद हाथी साबित हो रही हैं। रात के समय में कस्बे की गलियां स्ट्रीट लाइटों के खराब और बंद होने से घोर अंधेरे में तब्दील हो जाती है। जुलाना कस्बे की गलियों को लाइटों से रोशन करने की जिम्मेदारी नगरपालिका प्रशासन की है। पिछले कई महीनों से न.पा. द्वारा लगाई गई स्ट्रीट लाइटें बंद होने होने से सफेद हाथी बन गई हैं। 
इस कारण वार्ड के लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

कस्बे के रमेश जिंदल, रामलाल सिंगला, नरेश, सुरेश, कर्मबीर, अनिल, अमित आदि लोगों ने बताया कि पिछले कुछ वर्ष पहले नगरपालिका प्रशासन द्वारा गलियों में स्ट्रीट लाइटें लगाने को लेकर लाखों रुपए खर्च किए गए थे लेकिन यह लाइटें कुछ दिन ही गलियों चकाचौंद रही। उसके बाद पिछले कई माह से यह स्ट्रीट लाइटें बंद पड़ी हैं। इस कारण सूरज ढलते ही शाम के समय घोर अंधेरा छा जाता है। इस कारण गलियों से गुजरने वाले राहगीरों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है।

कई बार तो गलियों में अंधेरा होने के कारण गड्ढों का पता नहीं चलता और लोग दुर्घटनाग्रस्त हो जाते हैं। इसके अलावा चोर भी अंधेरे का फायदा उठा रहे हैं और दुकानों के ताले तोड़कर चोरी करने का काम कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि इस बारे में कई बार न.पा. प्रशासन को अवगत करवाया जा चुका है। उसके बाद भी वार्ड के लोगों की समस्या का कोई समाधान नहीं हो रहा है और वार्ड के लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

वार्ड के लोगों ने प्रशासन से मांग की है कि वार्ड की गलियों में लगी स्ट्रीट लाइटों को ठीक करवाया जाएं और उन्हें चालू हालत में किया जाएं। ताकि रात के समय में गलियां स्ट्रीट लाइट की रोशनी से जगमगाएं और वार्ड के लोगों को किसी परेशानी का सामना न करना पड़े। 

Related Stories:

RELATED शहर में स्ट्रीट लाइटों की रोशनी लम्बे समय से गायब