मतदाता सूची विवाद: AAP के खिलाफ चुनाव आयोग पहुंची भाजपा

नई दिल्लीःदिल्ली में मतदाता सूची से 30 लाख मतदाताओं के नाम कथित तौर पर अवैध तरीके से हटाए जाने संबंधी आम आदमी पार्टी के आरोपों को लेकर भाजपा ने उसके खिलाफ सोमवार को चुनाव आयोग का रूख किया। भगवा पार्टी ने आयोग पर से लोगों का भरोसा डिगाने के इरादे से बेबुनियाद आरोप लगाने को लेकर दिल्ली की सत्तारूढ़ पार्टी के खिलाफ कार्रवाई की भी मांग की है।


प्रदेश भाजपा प्रमुख मनोज तिवारी के नेतृत्व में पार्टी की दिल्ली इकाई के एक प्रतिनिधिमंडल ने भगवा पार्टी पर बेबुनियाद आरोप लगाने और उसके बारे में दुष्प्रचार करने को लेकर चुनाव आयोग से ‘आप’ की मान्यता खत्म करने की मांग की है। प्रतिनिधिमंडल द्वारा सौंपे गए एक ज्ञापन के मुताबिक, ‘‘ऐसा दर्शाया जा रहा है जैसे कि चुनाव आयोग भाजपा के शिकंजे में हो।’’

तिवारी ने बताया कि मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने इस विषय में उपयुक्त कार्रवाई करने का भरोसा दिलाया है। उन्होंने यह भी कहा कि उनकी पार्टी आप के दुष्प्रचार के खिलाफ उच्च न्यायालय का भी रुख करेगी।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल सहित आप के अन्य नेताओं ने आरोप लगाया है कि करीब 30 लाख मतदाताओं, खासतौर पर पूर्वांचली, मुसलमान और वैश्य समुदाय के लोगों का नाम चुनाव आयोग ने भाजपा के इशारे पर मतदाता सूची से हटा दिया है। अंतिम मतदाता सूची पिछले सप्ताह प्रकाशित की गई। तिवारी ने कहा कि हमने आप के खिलाफ यह शिकायत दी है कि वह दिल्ली में जाति के आधार पर लोगों को बांट रही है। 

Related Stories:

RELATED मतदाता सूची विवाद: AAP के खिलाफ चुनाव आयोग पहुंची भाजपा