शुक्र कर रहे हैं कुंभ राशि में गोचर, इन राशियों को मिलेगी अच्छी खबर

ये नहीं देखा तो क्या देखा (VIDEO)
जांलधर (नरेश):
मकर राशि से निकल कर कुम्भ राशि में जा रहे हैं। शुक्र 16 अप्रैल तक इसी राशि में रहेंगे और 16 अप्रैल को मीन राशि में जाएंगे। इससे पहले शुक्र 24 फरवरी से मकर राशि में ही गोचर कर रहे थे। शुक्र के इस राशि परिवर्तन का असर कुम्भ राशि के साथ-साथ सिंह राशि व शुक्र की अपनी राशियों वृष व तुला पर भी पड़ेगा। अन्य राशियां भी शुक्र के इस गोचर से प्रभावित होंगी। आइए जानते हैं आप पर शुक्र के राशि परिवर्तन का क्या असर होगा-


मेष : 11वें भाव में बैठा शुक्र 5वें भाव पर दृष्टि डालेगा जिससे प्रेम प्रसंगों को अच्छी खबर मिलेगी। प्रेमी अथवा प्रेमिका के साथ संबंध सुधर सकते हैं। यह भाव आय का भी भाव है लिहाजा कमाई के नए साधन भी खुल सकते हैं। 

वृष :इस राशि के मालिक शुक्र का अपने मित्र शनि की राशि में जाना शुभ संकेत है। 10वें भाव में शुक्र के गोचर से चौथे भाव में पडऩे वाली दृष्टि के कारण नए मकान अथवा गाड़ी को खरीदने की योजना बन सकती है। मां की सेहत में सुधार होगा।

मिथुन :यह राशि शुक्र के मित्र बुध की राशि है लिहाजा 9वें भाव से शुक्र का गोचर सामान्य फल देगा। तीसरे भाव पर पडऩे वाली दृष्टि भाई-बहनों के साथ संबंध सुधर सकते हैं। पति अथवा पत्नी के साथ लांग ड्राइव पर जाने का कार्यक्रम भी बन सकता है।


कर्क : 8वें भाव में दुश्मन ग्रह चंद्रमा की राशि में पड़ा शुक्र परेशानी खड़ी कर सकता है। बीमारी के योग हैं और दुर्घटना भी हो सकती है लिहाजा गाड़ी धीरे चलाएं। दूसरे भाव में शुक्र की दृष्टि से सगे-संबंधियों के साथ मन-मुटाव हो सकता है।

सिंह :इस राशि पर शुक्र की सीधी दृष्टि पड़ेगी हालांकि यह राशि शुक्र के दुश्मन ग्रह सूर्य की राशि है लेकिन इसके बावजूद 7वें घर पर शुक्र की दृष्टि से पति-पत्नी के मध्य प्रेम बढ़ेगा और वैवाहिक संबंधों में चल रहा टकराव समाप्त होने के आसार हैं। 


कन्या : इस राशि के 6वें भाव में पड़ा शुक्र बीमारियों से राहत देगा। यह राशि शुक्र के मित्र बुध की राशि है और 12वें भाव पर इसकी दृष्टि खर्चों पर कमी करेगी जिससे धन की बचत होगी। 

तुला :इस राशि का स्वामी शुक्र तुला राशि से 5वें भाव में गोचर करेगा लिहाजा इस राशि के जातकों के लिए शेयरों के निवेश से कमाई के अच्छे मौके होंगे। किसी को प्रपोज करने की सोच रहे हैं तो यह शुभ समय है। प्रेमी और प्रेमिकाओं के लिए अच्छी खबर आएगी।

वृश्चिक : इस राशि के चौथे भाव से गोचर कर रहे शुक्र को मंगल चौथी दृष्टि से देखेगा लिहाजा इस राशि के जातक कामुकता की तरफ बढ़ सकते हैं। हालांकि इस दौरान नई जमीन-जायदाद और लग्जरी का सामान खरीदने का भी बेहतरीन अवसर बन सकता है। 


धनु :शुक्र इस राशि से तीसरे भाव में गोचर करेगा और धनु राशि में पहले से पड़ा शनि कुम्भ राशि को तीसरी दृष्टि से देखेगा। इससे कुम्भ राशि एक्टिव हो जाएगी। तीसरे भाव के सक्रिय होने से भाई-बहनों से सहयोग मिल सकता है। भाग्य स्थान पर शुक्र की दृष्टि शुभ फल देगी।

मकर :इस राशि से शुक्र गोचर करके दूसरे भाव में जाएंगे लिहाजा दोस्तों के साथ संबंध बेहतर होंगे। 8वें भाव पर शुक्र की दृष्टि से छिपा धन मिलने के आसार हैं। हालांकि इस दौरान गाड़ी धीमे चलाएं क्योंकि दुर्घटना भी हो सकती है।

कुम्भ : शुक्र इसी राशि से गोचर करेंगे और 7वें घर पर शुक्र की दृष्टि आपके पार्टनर की सेहत के लिए शुभ है। वैवाहिक जोड़ों में तालमेल बेहतर होगा। शुक्र का गोचर आपके मूड को खुश रखेगा और आप रोमांटिक डेट पर जा सकते हैंं। 


मीन : 12वें भाव का शुक्र प्रेमी-प्रेमियों को मिलाप के अच्छे अवसर देगा। छठे भाव पर पडऩे वाले शुक्र की दृष्टि के चलते अदालती मामलों में लाभ होगा। इसके अलावा बीमारी से भी छुटकारा मिलने के आसार हैं।

शुक्र की कलियुग में बड़ी अहमियत है। यह ग्रह तमाम साधन, सुविधाएं और सम्पन्नता देने वाला ग्रह है। इसके मित्र राशि में जाने से जातकों को लाभ होगा। जिनकी कुंडली में शुक्र कमजोर है उन्हें हीरा धारण करना चाहिए और खुद की सफाई रखते हुए इत्र का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करना चाहिए। शुक्र का कोई भी उपाय करने से पहले अपने ज्योतिषी की सलाह जरूर लें। 


-आर.के. शर्मा वैदिक एस्ट्रोलॉजी एंड वास्तु रिसर्च इंस्टीच्यूट, गुरु गोबिंद सिंह एवेन्यू, जालंधर
ज्योतिष- ये एक पत्ता करेगा हर काम पक्का (VIDEO)

Related Stories:

RELATED शुक्र होंगे उच्च, किन राशियों के लिए खुलेंगे धन, सुख और समृद्धि के द्वार