ये वास्तु दोष बना सकते हैं घर की महिलाओं को बीमार

ये नहीं देखा तो क्या देखा (Video)
कहते हैं कि अगर वास्तु के नियमों को अगर अच्छे से न अपनाया जाए तो घर और घर की औरतों पर इसके असर देखने को मिलता है। कई बार अनदेखी की वजह से भारी परेशानी का सामना भी करना पड़ सकता है। ऐसा माना जाता है कि वास्तु का असर सबसे पहले घर की महिलाओं पर ही देखने को मिलता है। इसलिए पहला सुख निरोगी काया के सूत्र का ध्यान रखते हुए नीचे लिखी बातों पर गौर करें और यदि आपके घर में ऐसी कोई परेशानी है तो उसे तुरंत दूर करने का प्रयास करें। तो आइए जानते हैं उन बातों के बारे में-


कहते हैं कि अगर घर की कोई दीवार टूटी-फूटी, दरार वाली या फिर प्लास्टर उखड़ा हो, ये एक वास्तु दोष होता है और इसे जल्दी ही ठीक करवा लेना चाहिए। वरना इसके चलते घर में रहने वाली औरतों को मानसिक परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। 

यदि कमरों के ठीक नीचे अंडग्राउंड पानी का टैंक, कुंआ, बोरवेल या सेप्टिक टैंक होता है तो घर की महिलाएं न सिर्फ बीमार रहती हैं बल्कि उन्हें मृत्यु का भय भी रहता है।

अगर उत्तर ईशान ऊंचा हो और दक्षिणी पश्चिमी कोण नीचे की और हो तो घर की स्त्री को अनिद्रा, अज्ञात भय, और लाइलाज बीमारी की समस्या के साथ आकस्मिक मृत्यु की भी आशंका होती है।

उत्तर ईशान, पूर्व नैर्ऋत्य, आग्नेय दक्षिण और वायव्य नीचे हो तो घर में जबरदस्त आर्थिक संकट और घर की मालकिन को लंबी बीमारी की समस्या रह सकती है।

Related Stories:

RELATED पति-पत्नी के बीच तनाव का कारण बनते हैं ये छोटे-छोटे 8 वास्तु दोष