शुजा के EVM हैकिंग दावों से खुली BJP व रिलायंस-जिओ की पोल, FPA ने किया किनारा

लंदनःफॉरेन प्रेस एसोसिएशन (FPA) ने सैयद शुजा द्वारा सोमवार को ईवीएम हैकिंग पर भाजपा व दूरसंचार कंपनियों की पोल खोलने के दावे से खुद को अलग कर लिया है। एसोसिएशन का कहना है कि शुजा ने EVM हैकिंग को लेकर केवल आरोप लगाए लेकिन अबतक कोई सबूत नहीं दिए हैं।


बता दें कि इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में स्काईप के जरिए पत्रकारों से बात करते हुए इस हैकर ने EVM की हैकिंग को लेकर कई चौका देने वाले कथित खुलासे किए थे। शुजा ने इस दौरान कहा कि हाल में संपन्न राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश का चुनाव भी भाजपा जीत जाती, लेकिन उसकी टीम ने हैकिंग की कोशिशों को नाकाम कर दिया। शुजा ने दावा किया कि दूरसंचार कंपनी रिलायंस-जिओ कम फ्रीक्वेंसी वाले सिग्नल के जरिए हैकिंग में भाजपा की मदद करती है।

हैकर के दावे पर प्रतिक्रिया देते हुए चुनाव आयोग ने कहा कि EVM पूरी तरह से सुरक्षित है। मशीन तकनीकी विशेषज्ञों की निगरानी में ही तैयार होती है। लंदन में हैकिंग को लेकर आयोजित कार्यक्रम को चुनाव आयोग ने प्रायोजित करार दिया था। आयोग ने एक बार फिर से अपनी इस बात को दोहराया है कि वर्ष 2010 में ही आयोग ने मशीनों की गुणवत्ता जांचने परखने के लिहाज से एक तकनीकी समिति का गठन किया था।

Related Stories:

RELATED देवीलाल की विचारधारा के दलों से चुनावी गठबंधन से इंकार नहीं : चौटाला