हिंसा की आशंका के चलते गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों को किया अलर्ट

नई दिल्ली : केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने कुछ राजनीतिक दलों के नेताओं द्वारा मतगणना के परिणाम अनुकूल नहीं आने पर हिंसा की धमकी दिए जाने के मद्देनजर सभी राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों तथा पुलिस महानिदेशकों से मतगणना के दिन कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए सभी जरूरी कदम उठाने को कहा है। मंत्रालय के अनुसार सभी राज्यों के मुख्य सचिवों और पुलिस महानिदेशकों को मतगणना के दिन कानून व्यवस्था बनाए रखने और पूरी तरह सतर्क रहने को कहा गया है। उसने राज्यों से मतगणना केन्द्रों और उनमें बने स्ट्रांग रूम की सुरक्षा के लिए भी सभी एहतियाती उपाय करने को कहा है।

मंत्रालय का कहना है कि कई रिपोर्ट में चुनाव परिणामों के बाद हिंसा और व्यवधान पैदा करने की बात सामने आ रही है और इसे देखते हुए उसने सभी राज्यों से एहतियाती कदम उठाने को कहा है। उल्लेखनीय है कि सत्रहवीं लोकसभा के चुनाव संपन्न होने के बाद मतों की गिनती गुरूवार को होगी। विपक्षी दलों ने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों में गड़बड़ी की आशंका जताते हुए चुनाव आयोग से गुहार लगाई है।

कांग्रेस के नेतृत्व में मंगलवार को 22 राजनीतिक दलों ने मतगणना शुरू होने पर पहले वी वी पैट पर्चियों का मिलान करने की मांग की थी जिससे गड़बडी की आशंका पर उस पूरे विधानसभा क्षेत्र की वीवीपैट की पर्चियों का मिलान ईवीएम से कराया जाए। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) के अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा है कि ईवीएम के जरिए चुनाव को प्रभावित करने की साजिश हुई तो खून-खराबा हो सकता है।

Related Stories:

RELATED कांग्रेस के विरुद्ध व्यापारियों का रोष ज्वाला में बदला