सूर्य ने किया शतभिषा नक्षत्र में प्रवेश, इस नाम के लोगों की होगी बल्ले-बल्ले !

ये नहीं देखा तो क्या देखा (Video)


कल 19 फरवरी माघ शुक्ल पक्ष की पचंमी तिथि की रात 11:18 पर सूर्यदेव ने शतभिषा नक्षत्र में प्रवेश किया है। अब 5 मार्च की सुबह 5:36 मिनट तक ये यहीं पर वास करेंगे। इस प्रवेश का अलग-अलग नामाक्षर और नक्षत्र वाले लोगों पर क्या असर होगा आइए जानें, साथ ही ये भी जानें की बैड लक से बचने के लिए  क्या करना है।

जिन जातकों का जन्मशतभिषा, पूर्वाभाद्रपद या उत्तराभाद्रपदनक्षत्रमें हुआ है और जिनका नाम 'ग', 'स', 'द' या 'थ' अक्षर से स्टार्ट होता है। उन्हें 5 मार्च तक आग और बिजली से खुद को बचा कर रखना है। कोई अनहोनी हो सकती है। नया घर बनाने पर विचार कर रहे हैं तो 5 मार्च तक रुक जाएं। उसके बाद समय आपके लिए बहुत अच्छा रहने वाला है।
उपाय-किसी भी धार्मिक स्थान पर गुड़ या बाजरे का दान करें।        

जिन जातकों का जन्म रेवती, अश्विनी, भरणी या कृतिकानक्षत्रमें हुआ है और जिनका नाम 'द', 'च', 'ल', 'अ', 'ई', 'उ' या 'ए' से स्टार्ट होता है। उन्हें 5 मार्च तक अपने जीवन में ठहराव अनुभव होगा। उसके बाद सितारे जोर पकड़ेंगे।
उपाय-रात को अपने तकिए के पास 5 बादाम रखें, सुबह शुद्ध होकर उन बादामों को उठाएं और किसी मंदिर में रख आएं।

जिन जातकों का जन्म रोहिणी, मृगशिरा, आर्द्रा या पुनर्वसु नक्षत्रमें हुआ है और जिनका नाम 'अ', 'व', 'क', 'ह' या 'घ' से स्टार्ट होता है। उनके जीवन में 5 मार्च तक स्थिरता बनी रहेगी।
उपाय-शर्बती रंग की हैट, टोप, साफ़ा, टोपी या पगड़ी से हमेशा सिर ढक्कर रखें।

जिन जातकों का जन्म पुष्य, आश्लेषा या मघानक्षत्र में हुआ है और जिनका नाम 'ह', 'ड' या 'म' अक्षर से स्टार्ट होता है। उनके घर में 5 मार्च तक धन की देवी खुद वास करेंगी। धन संबंधित सभी टेंशन का अंत होगा।
उपाय-घर में पीतल के बर्तनों को इस्तेमाल अधिक से अधिक करें।

जिन जातकों का जन्म पूर्वाभाद्रपद, उत्तराभाद्रपद, हस्त या चित्रा नक्षत्रमें हुआ है और जिनका नाम 'म', 'ट', 'प' या 'र' से स्टार्ट होता है। उन्हें 5 मार्च तक हर तरफ से प्रॉफिट मिलेगा।
उपाय- 5 मार्च तक हर रोज़ काली गाय की सेवा करें। बड़े भाई का पिता के समान आदर करें।

जिन जातकों का जन्म स्वाती, विशाखा या अनुराधा नक्षत्रमें हुआ है और जिनका नाम 'र', 'त' या 'न' से स्टार्ट होता है। उनके घर के हैड को 5 मार्च तक टेंशन हो सकती है। उन्हें अपनी सेहत पर खास ध्यान देने की अवश्यकता है। 
उपाय-चिड़ियां को बाजरा खिलाएं। 

जिन जातकों का जन्म ज्येष्ठा, मूल, पूर्वाषाढ़ा या उत्तराषाढ़ा नक्षत्रमें हुआ है और जिनका नाम  'न', 'य', 'भ', 'ध' या 'ज' से स्टार्ट होता है। उन्हें 5 मार्च तक धन संबंधी मामलों में सतर्क रहना है। कोई बड़ा खर्चा आ सकता है। 

उपाय- छोटे बच्चों को खाना खिलाएं। संभव हो तो उन्हें उनकी पसंद का भोजन करवाएं।

जिन जातकों का जन्म श्रवण या धनिष्ठा नक्षत्रमें हुआ है और जिनका नाम 'ख' या 'ग' से स्टार्ट होता है। उन्हें 5 मार्च तक स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहना होगा। कोई बीमारी हो सकती है।
उपाय-धर्म-कर्म के कामों में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लें। तन, मन और धन से सेवा करें।

कुंभ के बारे में कितना जानते हैं आप !

Related Stories:

RELATED मीन संक्रांति आज: सूर्य करेंगे मीन राशि में प्रवेश, 1 महीने तक क्या रूख लेंगे आपके सितारे