EVM को लेकर शिवराज का राहुल पर तंज, बोले- आप तो समझदार हैं अपने नेताओं को भी समझाइए

भोपाल:सोमवार को भारतीय मूल के अमेरिकी हैकर सैयद शुजा ने एक बड़ा दावा करते हुए कहा कि 2014 लोकसभा चुनाव में ईवीएम की वजह से बीजेपी सत्ता में आई थी। इसको लेकर विपक्ष हमलावर हो चला है। इसी बीच कांग्रेस ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा है कि 'मोदी ईवीएम हैक करके पीएम बने..? अमेरिकी एक्सपर्ट ने दावा किया है कि 2014 में भाजपा ने ईवीएम हैक कराई, सरकार बनने के बाद गोपीनाथ मुंडे ने हैकिंग के लिये संपर्क किया। इसके बाद 2015 में AAP ने भी हैकिंग कराई। महाराष्ट्र, गुजरात और यूपी के चुनावों में भी धांधली की गई। ये हैकिंग ट्रांसमीटर के जरिए कराई गई। तो क्या ये है मोदी लहर का राज ? 


कांग्रेस के द्वारा लगाए गए आऱोपों का पलटवार करते हुए मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा कि 'तो क्या राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में आपकी जो सरकारें बनी हैं, वो बिना ईवीएम के चुनाव होने से बनी हैं ? इसके बाद शिवराज ने कहा कि राहुल गांधी आप तो समझदार है, समझाइए अपने नेताओं को।


बता दें कि लंदन में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान भारतीय मूल के अमेरिकी साइबर एक्सपर्ट सैयद शुजा ने दावा किया कि '2014 के लोकसभा चुनाव में धांधली हुई थी, जिसकी मदद से बीजेपी को बड़ी जीत हासिल हुई थी।' शुजा यहीं नहीं रुके उन्होंने कहा कि '2015 के दिल्ली विधानसभा चुनाव में उसने आम आदमी पार्टी के लिए ईवीएम हैक किया था।'



इस खुलासे के बाद ही ईवीएम पर एक बार फिर कई तरह के सवाल उठ रहे हैं। विपक्षी पार्टियां भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साध रही है, तो वहीं बीजेपी ने लंदन की इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में कपिल सिब्बल की मौजूदगी पर सवाल खड़े किए हैं। हालांकि, चुनाव आयोग ने इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में किए गए सभी दावों को खारिज किया था और ईवीएम को बिल्कुल सुरक्षित बताया था। 
 



भारतीय मूल के अमेरिकी हैकर शुजा ने दावा किया कि भारतीय टेलीकॉम क्षेत्र की बड़ी कंपनी रिलायंस जियो ने कम फ्रीक्वेंसी के सिग्नल पाने में भाजपा की मदद की थी, जिससे ईवीएम मशीनों को हैक किया जा सके। शुजा ने कहा था कि, बीजेपी राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश में चुनाव जीत जाती अगर उनकी टीम इन तीनों राज्यों में ट्रांसमिशन हैक करने की भाजपा की कोशिश में दखल नहीं देती। शुजा ने कहा कि वे सार्वजनिक क्षेत्र की इलेक्ट्रॉनिक कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (ईसीआईएल) की टीम का हिस्सा थे जिसने ईवीएम मशीन का डिजाइन तैयार किया था। वह यूरोप मे भारतीय पत्रकार संघ की ओर से आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में शामिल हुए थे। लेकिन वे स्काईप के जरिए पर्दे पर ही दिखाई दिए। 

Related Stories:

RELATED राहुल पर बरसे शिवराज, बोले- 'अगर कोई सूरज पर थूकेगा तो वो वापस उस पर ही आएगा'