ऑफ द रिकॉर्ड: राबर्ट-प्रियंका समर्थकों को राहुल का झटका

नेशनल डेस्कःगुर्जर नेता ललित नग्गर की फरीदाबाद से उम्मीदवारी की घोषणा कांग्रेस ने बड़ी धूमधाम से की। पार्टी का यह फैसला काफी हैरानीभरा था क्योंकि ललित छोटा-सा रियल एस्टेट व्यापारी है।


अवतार भडाना जो हरियाणा के बहुत ही वरिष्ठ नेता हैं व चार बार एम.पी. व वर्तमान में मिर्जापुर से भाजपा के विधायक हैं, ने हाल ही में कांग्रेस ज्वाइन कर ली है। अवतार के भाजपा छोडऩे के बाद कयास लगाए जा रहे थे कि वही फरीदाबाद से कांग्रेस के उम्मीदवार होंगे। लेकिन अचानक ललित का नाम सूची में शामिल हो गया और अंतत: पार्टी ने उसे ही उम्मीदवार बनाया।

कांग्रेस के इस फैसले से लोग हैरान हो गए क्योंकि इससे पहले 2014 तक किसी ने भी उनका नाम नहीं सुना था। ललित पहली बार तब चर्चा में आए थे जब भूपिंद्र हुड्डा ने फरीदाबाद की तिगांव विधानसभा सीट से उन्हें टिकट दिया था। यह कांग्रेस की काफी सुरक्षित सीट थी। उस समय सभी यह कह रहे थे कि हुड्डा ने ललित को किसी अज्ञात सेवा के बदले पुरस्कृत किया है। लेकिन यह कोई नहीं जानता था कि हुड्डा ने उन्हें किस सेवा के लिए यह ईनाम दिया। उसके बाद बिल्ली छींके से बाहर तब आई जब वाड्रा लैंड डील की जांच के लिए धींगरा आयोग बनाया गया।

ललित के इसी संबंध के चलते हुड्डा, अहमद पटेल और दूसरे टॉप पार्टी नेताओं ने अवतार की बजाय ललित नग्गर को टिकट दिला दी। वाड्रा के साथ हुड्डा के संबंध जगजाहिर हैं। जब राहुल गांधी को यह सारा माजरा पता चला तो वह गुस्सा हो गए और उन्होंने पार्टी महासचिव मुकुल वासनिक को कहा कि उन्होंने किस तरह से बिना उनकी अनुमति के फरीदाबाद सीट से उम्मीदवार का नाम घोषित किया। बाद में मामले को हल कर लिया गया और ललित की बजाय अवतार को टिकट दे दी गई। इसे कांग्रेस में राबर्ट व प्रियंका समर्थकों के लिए पहला झटका माना जा रहा है। 

Related Stories:

RELATED ऑफ द रिकॉर्ड: राहुल के खिलाफ भगवा ब्रिगेड