पुडुचेरी: नारायणसामी का धरना जारी, बेदी के बातचीत का प्रस्ताव विफल

पुडुचेरी: पुडुचेरी की उपराज्यपाल किरण बेदी नई दिल्ली की अपनी यात्रा बीच में ही छोड़कर यहां वापस लौट आई और उन्होंने पांच दिन से जारी धरने को समाप्त करने के लिए मुख्यमंत्री वी नारायणसामी को रविवार की शाम को बातचीत के लिए आमंत्रित किया। हालांकि बैठक के लिए पूर्व शर्त ‘लगाए’ जाने के कारण यह पहल विफल हो गई।

बातचीत कार्यक्रम रद्द होने के बाद देर शाम किरण बेदी ने मुख्यमंत्री पर केवल ‘अनावश्यक रूप से मामले को खींचने के लिए अधिकारियों की उपस्थिति की शर्त को ‘थोपने’ का आरोप लगाया। नारायणसामी ने चेतावनी देते हुए कहा था कि राजभवन के सामने जारी धरने को 20 फरवरी से ‘जेल भरो’ आंदोलन के रूप में तेज किया जाएगा जिसके कुछ ही घंटों के बाद किरण बेदी का प्रस्ताव सामने आया था। मुख्यमंत्री ने कहा, ‘सात फरवरी को उपराज्यपाल को भेजे गए पत्र में समाहित हमारी मांगों को जब तक मान नहीं लिया जाता है तब तक हमारा धरना जारी रहेगा।’

उपराज्यपाल के खिलाफ अपने धरने के तहत शनिवार की सुबह मुख्यमंत्री, उनके मंत्रियों और सत्तारूढ़ गठबंधन के नेताओं ने अपने आवासों पर काले झंडे लहराए। गत 14 फरवरी को दिल्ली गई बेदी रविवार को दोपहर को लौट आईं थी और उन्होंने नारायणसामी तथा उनके साथियों को बैठक के लिए शाम को राजभवन आमंत्रित किया था।

नारायणसामी से मिलने जाएंगे केजरीवाल
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल राजनिवास के बाहर धरने पर बैठे अपने समकक्ष वी. नारायणसामी से मिलने सोमवार को वहां जाएंगे। नारायणसामी, उनकी कैबिनेट के सहकर्मी और कांग्रेस तथा द्रमुक विधायकों का अपनी सरकार के प्रस्तावों के प्रति बेदी के नकारात्मक रुख को लेकर धरना रविवार को भी जारी रहा। दिल्ली सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि केजरीवाल के साथ उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया भी होंगे। वह सोमवार को दोपहर 12 बजे धरना स्थल पर नारायणसामी से मिलेंगे। 

Related Stories:

RELATED नीट स्कोर की मान्यता 3 साल करने का प्रस्ताव पारित