प्रियंका गांधी PM मोदी को गुजरात में देंगी चुनौती, 60 वर्षों बाद होगा ऐसा

जालन्धर(धवन): कांग्रेस की नव नियुक्त महासचिव व पूर्वी उत्तरप्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को उनके गृह राज्य गुजरात में घेरने जा रही हैं। प्रियंका ने 28 फरवरी को गुजरात में मोदी के गृहराज्य में सार्वजनिक रैली को संबोधित करने का निर्णय लिया है। प्रियंका के साथ कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी तथा उनकी मां सोनिया गांधी भी इस रैली को संबोधित करेंगी। 

लोकसभा चुनाव को लेकर होगी बैठक
कांग्रेसी हलकों ने बताया कि गांधी नगर में होने वाली रैली के बाद कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक भी गुजरात में ही 28 को होगी। कांग्रेस कार्य समिति जोकि कांग्रेस की सर्वोच्च नीति निर्धारक समिति है, की बैठक में आगामी लोकसभा चुनावों को लेकर चर्चा की जाएगी। कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में पूर्व प्रधानमंत्री डा. मनमोहन सिंह, कांग्रेस संसदीय दल के नेता मलिकाअर्जुन खड़के, राज्य सभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद व अन्य वरिष्ठ नेता भी भाग लेंगे। गुजरात के इतिहास में कांग्रेस द्वारा सबसे बड़ी रैली की जाएगी जिसमें राहुल, प्रियंका व सोनिया तीनों भाग लेंगे। कांग्रेसी नेताओं ने बताया कि एक तरफ तो केंद्र में मोदी सरकार के खिलाफ लोगों में जन आक्रोश बढ़ रहा है तो दूसरी ओर गुजरात में भी भाजपा सरकार के विरूद्ध लोगों में गुस्सा पाया जा रहा है। पुलवामा में हुए आतंकी हमले को देखते हुए प्रियंका गांधी ने 14 फरवरी को लखनऊ  में अपनी प्रैस कानफ्रैंस रद्ध कर दी थी। 

कांग्रेस भाजपा को देगी एक कड़ा संदेश 
गुजरात कांग्रेस के प्रमुख अमित चावड़ा के अनुसार गुजरात में कांग्रेस कार्य समिति की बैठक करने तथा रैली करने के पीछे एक उद्देश्य यह है कि इससे कांग्रेस भाजपा को एक कड़ा संदेश देगी। कांग्रेस का मानना है कि प्रियंका के निशाने पर सीधे तौर पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तथा भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह होंगे। यह भी कहा जा रहा है कि कांग्रेस कार्यसमिति की 60 वर्षों के बाद बैठक गुजरात में होने जा रही है। यह बैठक गांधी नगर में रैली के बाद अहमदाबाद में होगी।     

Related Stories:

RELATED क्या प्रियंका गांधी से डर गई भाजपा