सर्जिकल स्ट्राइक की दूसरी बरसी पर ‘पराक्रम पर्व’ मनाएगी मोदी सरकार

नई दिल्लीः सरकार जम्मू-कश्मीर में सीमा पार आतंकवादी ठिकानों पर सेना की सर्जिकल स्ट्राइक की दूसरी वर्षगांठ पर 28 से 30 सितंबर तक देश भर में तीन दिन का ‘पराक्रम पर्व’ मनायेगी। पराक्रम पर्व का मुख्य समारोह राजपथ पर स्थित इंडिया गेट लॉन में होगा जहां पहले दिन शाम को खुद रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण शिरकत करेंगी। वह बच्चों के साथ बात भी करेंगी।



रक्षा मंत्री ने कहा है, 28 से 30 सितंबर तक हम अपनी सेनाओं की बहादुरी तथा वीरता का जश्न मनायेंगे। इसी तरह देश के 51 शहरों में 53 जगहों पर जवानों की बहादुरी और वीरता की झलक दिखानें के लिए कार्यक्रमों का आयोजन किया जायेगा। इंडिया गेट पर प्रदर्शनी में तोपों तथा अन्य हथियारों के साथ साथ आतंकवादियों से छीने गये हथियार भी प्रदर्शित किये जायेंगे। वीर जवानों के नाम स्कूली बच्चों के पत्रों, पोस्टर तथा पेंटिंग को भी प्रदर्शित किया जायेगा।



पहले दिन कार्यक्रम की शुरूआत शाम को बिगुल फुंकने के साथ होगी और इसके बाद सेना की विभिन्न अभियानों में फतह से संबंधित फिल्म दिखायी जायेगी। एक डिजिटल वॉल भी लगायी जायेगी जिस पर बच्चे और लोग अपने संदेश सेना तक पहुंचा सकेंगे। सेना के बैंड के साथ साथ कई जाने माने कलाकार भी अपनी प्रस्तुतियां देंगे। आम लोग के लिए यह प्रदर्शनी शनिवार और रविवार को सुबह 11 से रात दस बजे तक खुली रहेगी। सरकार चाहती है कि लोग आयोजन स्थल पर सेल्फी लेकर उसे सोशल मीडिया पर डालें।



सेना ने दो वर्ष पहले 29 सितंबर को सीमा पार आतंकवादियों के ठिकानों को निशाना बनाकर सर्जिकल स्ट्राइक की थी। इस कार्रवाई में कई आतंकवादी ठिकाने ध्वस्त किये गये थे और बड़ी संख्या में आतंकवादी मारे गये थे।

Related Stories:

RELATED हल्द्वानी में पराक्रम पर्व के रूप में मनाई गई ''सर्जिकल स्ट्राइक'' की दूसरी वर्षगांठ