ममता का राजनीति में कोई महत्व नहीं रह जाएगा: भाजपा

कोलकाता : भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्र बाबू नायडू के बीच सोमवार को हुई बैठक की कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि दोनों के पास कुछ करने को नहीं है क्योंकि भाजपा जीत रही है और 23 मई को चुनाव के नतीजे आ जाने के बाद दीदी का राजनीति में कोई महत्व नहीं रह जाएगा। भाजपा के पश्चिम बंगाल प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि एग्जिट पोल के नतीजों को देखकर दोनों नेताओं की हताशा साफ नजर आ रही है।

घोष ने दावा किया कि भाजपा को पश्चिम बंगाल में 42 में से 23 से अधिक सीटें मिलेंगी। उन्होंने कहा कि 23 मई के बाद दोनों मुख्यमंत्रियों खासकर ,तेदेपा प्रमुख के पास कोई काम नहीं रह जाएगा और उनकी राजनीति में कोई कीमत नहीं रह जाएगी। घोष ने बनर्जी और नायडू की मुलाकात का जिक्र करते हुए कहा,‘दोनों मुख्यमंत्री एक साथ चाय पी सकते हैं क्योंकि उनके पास करने को कुछ नहीं है।

भाजपा बंगाल में 23 से अधिक सीटों पर जीत हासिल करेगी और नायडू भी आंध्र प्रदेश में हार का सामना करेंगे।' भाजपा अध्यक्ष ने बनर्जी के उस बयान का, जिसमें मुख्यमंत्री ने रविवार को कहा था कि वह एग्जिट पोल के गपशप में विश्वास नहीं करतीं और हजारों ईवीएम में हेरफेर करने की योजना के तहत इस तरह का एग्जिट पोल दिखाया जा रहा है, खंडन करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री अपनी हार स्वीकार नहीं करना चाहती हैं।

Related Stories:

RELATED यहां जानें, सूर्य को जल चढ़ाने का क्या है महत्व ?