‘लगातार आ रही प्राकृतिक आपदाएं’ ‘दे रहीं किसी बड़ी तबाही के संकेत’

punjabkesari.in Tuesday, Oct 19, 2021 - 03:43 AM (IST)

कुछ समय से भारत सहित विश्व के ओर-छोर में लगातार भूकंपों एवं अन्य प्राकृतिक आपदाओं-आसमानी बिजली, वर्षा, बाढ़, हिमस्खलन, ज्वालामुखी विस्फोट, चक्रवातीय तूफान आदि का प्रकोप लगातार जारी है। विश्व का शायद ही कोई कोना इनसे बचा हो और कोई दिन खाली गया हो।  

* 1 अक्तूबर को दक्षिणी ईरान के बुशहर प्रांत में 5.2 तीव्रता, मध्य प्रदेश के सिवनी जिले में 3.6 तीव्रता तथा कर्नाटक के विजयपुरा में 2.5 तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस किए गए।
* 1 अक्तूबर को ही श्रीलंका के पोहजोनेन प्रांत में 4.9 तीव्रता का भूकंप आया।
* 2 अक्तूबर को नेपाल के बागमती प्रांत में 4.8 तीव्रता का भूकंप आया।
* 2 अक्तूबर को ही अरुणाचल में 4.1 तीव्रता के भूकंप के झटके लगे।
* 2 अक्तूबर को फिर नाभा के गांव ‘रैमल माजरी’ में आसमानी बिजली गिरने से एक भट्टे पर काम करने वाले 3 युवा मजदूरों की मौत हो गई। 

* 2 अक्तूबर को ही उत्तराखंड के ‘चमोली’ जिले में हिमस्खलन की चपेट में आए 4 नौसैनिकों के शव बरामद हुए।
* 3 अक्तूबर को झारखंड के सिंहभूम जिले में 4.1 तीव्रता तथा असम के ‘सोनीतपुर’ में 3.8 तीव्रता के भूकंप आए।
* 3 अक्तूबर को ही मध्यप्रदेश के नीमच जिले में आसमानी बिजली गिरने की 2 अलग-अलग घटनाओं में 4 लोगों की जान चली गई।
* 4 अक्तूबर को ओमान में चक्रवातीय तूफान ‘शाहीन’ के कारण मृतकों की संख्या 13 हो गई जबकि ईरान के कम से कम 6 मछुआरे मारे गए।
* 5 अक्तूबर को अफगानिस्तान के बलख में 5.2 तीव्रता का तथा पूर्वी चीन में 5.1 तीव्रता के भूकंप आए। 

* 6 अक्तूबर को चीन के सीजांग में 4.7 तीव्रता का भूकंप आया।
* 7 अक्तूबर को पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत में आए 5.9 तीव्रता के भूकंप से 24 लोगों की मौत तथा 300 से अधिक लोग घायल हो गए।
* 7 अक्तूबर को ही जापान का ग्रेटर टोक्यो 6.1 तीव्रता के भूकंप से दहल गया जिसमें 22 लोग घायल हो गए।
* 8 अक्तूबर को म्यांमार में 5.5 तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस किए गए।
* 9 अक्तूबर को फिजी के ‘वाशुआतु’ में 7.0 तीव्रता का भूकंप आया। 

* 10 अक्तूबर को अफगानिस्तान के फैजाबाद में 4.4 तीव्रता और पेरू के ‘सेलवेसियोन’ में रिक्टर पैमाने पर 5.7 तीव्रता के भूकंप आए।
* 11 अक्तूबर को अमरीका के हवाई में बिग आईलैंड तट के निकट 6.1 तीव्रता का भूकंप आया।
* 12 अक्तूबर को चीन के शांक्सी प्रांत में भीषण बाढ़ के परिणामस्वरूप कम से कम 15 लोगों की मौत हो गई।
* 12 अक्तूबर को ही कर्नाटक के कलबुर्गी में 3.5 तीव्रता का भूकंप आया। इस महीने अभी तक उत्तरी कर्नाटक में भूकंप के 6 झटके लग चुके हैं।
* 12 अक्तूबर को फिर यूनान के क्रीत द्वीप पर 6.5 तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस किए गए। 

* 13 अक्तूबर को इंडोनेशिया के इरियान में 4.6 तीव्रता का भूकंप आया।
* 14 अक्तूबर को स्पेन के केनरी द्वीप में 4.5 तीव्रता के भूकंप ने पूरे ला पाल्मा क्षेत्र को दहला दिया। 
* 14 अक्तूबर को फिर असम में 3.3 तीव्रता का भूकंप आया।
* 14 अक्तूबर को ही दक्षिण कैलीफोॢनया के तटीय पहाड़ों के जंगलों में लगी आग ने 57 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र को अपनी लपेट में ले लिया।
* 14  अक्तूबर के दिन ही फिलीपीन्स में आए तूफान ‘कोम्पास’ के परिणामस्वरूप अचानक भूस्खलन तथा बाढ़ से 19 लोगों की मौत हो गई तथा 14 लापता हैं।
* 15 अक्तूबर को सोलोमन द्वीप में 6.6 तीव्रता का भूकंप आया। 

* 16 अक्तूबर को इंडोनेशिया के बाली में आए 4.8 तीव्रता के भूकंप से 3 लोगों की मौत तथा 7 अन्य घायल हो गए। इसी दिन ईरान के कैमरान में 5.1 तीव्रता तथा मणिपुर के ‘चुराचांदपुर’ में 3.7 तीव्रता के भूकंप आए।
* 16 अक्तूबर से ही केरल के विभिन्न भागों में जारी भारी वर्षा और भूस्खलन के परिणामस्वरूप यह लेख लिखे जाने तक 26 लोगों की मौत तथा हजारों लोग बेघर हो चुके थे।
* 17 अक्तूबर को नेपाल के ‘पश्चिमी गोरखा’ जिले तथा काठमांडू घाटी में 4.3 तीव्रता का भूकंप आया। इसी दिन रूस के ‘सेवेरो-कुरील्स्क’ में 5.0 तीव्रता के भूकंप के झटके लगे।
* 18 अक्तूबर को चीन अधिगृहीत तिब्बत के लोबुजिया प्रांत में 4.4 तीव्रता का भूकंप आया। 

* 18 अक्तूबर को ही नेपाल में 4.3 तीव्रता के भूकंप के 2 झटके लगे।
* 18 अक्तूबर को ही उत्तर भारत में दिल्ली समेत अनेक स्थानों पर वर्षा से जलथल हो गया। आम तौर पर इन दिनों वर्षा नहीं होती परंतु कुछ समय से देश के अधिकांश हिस्सों में भारी वर्षा हो रही है। 
* 18 अक्तूबर वाले दिन ही उत्तराखंड में वर्षा तथा बर्फबारी से चारधाम यात्रा ठप्प हो गई तथा भूस्खलन से 5 लोगों की मौत हो गई।

विश्व इस समय जैसेेहालात से जूझ रहा है, उसमें शनि देव की नाराजगी है या नहीं, यह तो पता नहीं, परंतु इस समय जो कुछ भी हो रहा है, उसके पीछे कुछ न कुछ बात तो अवश्य है! शायद प्रकृति समूचे विश्व को चेतावनी दे रही है कि अभी भी संभल जाओ और मुझ से छेड़छाड़ करना बंद कर दो वर्ना तुम्हें वर्तमान से भी अधिक विनाशलीलाओं के दृश्य देखने पड़ेंगे।—विजय कुमार 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Related News

Recommended News