आने वाले चुनावों के लिए सक्रिय हुईं भाजपा, कांग्रेस और  ‘आप’ आदि

2021-07-18T04:48:23.457

अगले वर्ष के शुरू में देश के 5 महत्वपूर्ण राज्यों पंजाब, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गोवा तथा मणिपुर और उसके बाद गुजरात एवं हिमाचल प्रदेश में होने वाले चुनावों के दृष्टिïगत अभीे से ही राजनीतिक गतिविधियां तेज हो गई हैं तथा सत्तारूढ़ और विरोधी दलों के नेताओं द्वारा इन राज्यों के दौरे शुरू हो गए हैं। 

*6 जुलाई को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा हिमाचल के 3 दिन के दौरे पर आए और 2 विधानसभा क्षेत्रों फतेहपुर और जुब्बल कोटखाई व मंडी संसदीय क्षेत्र के उपचुनावों व अगले वर्ष होने वाले विधानसभा चुनावों बारे मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर, प्रदेश भाजपाध्यक्ष सुरेश कश्यप तथा अन्य नेताओं के साथ चर्चा की।
* 8 जुलाई को आल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन (ए.आई.एम.आई.एम.) के मुखिया असदुद्दीन ओवैसी ने लखनऊ पहुंच कर चुनावी साथियों की तलाश शुरू कर दी।
उन्होंने ‘भागीदार संकल्प मोर्चा’ बनाने की बात कही है जिसमें 10 दलों के शामिल होने का दावा किया। इस प्रस्तावित मोर्चे ने सत्ता में आने पर घरेलू बिजली बिल माफ करने व गरीबों के मु त इलाज की बात कही

* 11 जुलाई को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने गुजरात में अपने संसदीय क्षेत्र गांधी नगर तथा आसपास के इलाकों में 244 करोड़ रुपए की परियोजनाओं की आधारशिला रखी।
* 11 जुलाई को दिल्ली से बाहर पैर पसारने को प्रयत्नशील ‘आम आदमी पार्टी’ (आप) के मुखिया अरविंद केजरीवाल उत्तराखंड दौरे पर देहरादून पहुंचे और वहां सत्ता में आने पर प्रत्येक परिवार को 300 यूनिट मु त बिजली देने की घोषणा की और 13 जुलाई को गोवा में भी यही घोषणा दोहराई। इससे पूर्व पंजाब में भी वह यही घोषणा कर चुके हैं।
* 15 जुलाई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में 1583 करोड़ रुपए से अधिक की विकास परियोजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास किया। 

* अगले दिन 16 जुलाई को नरेंद्र मोदी ने अपने गृह राज्य गुजरात को 1100 करोड़ रुपए की परियोजनाओं की सौगात दी और 71 करोड़ रुपए की लागत से निर्मित हवाई अड्डïों जैसी सुविधाओं से युक्त देश के पहले फाइव स्टार होटल वाले गांधी नगर कैपिटल रेलवे स्टेशन का उद्घाटन किया। इसी दिन नरेंद्र मोदी ने 2 नई ट्रेनों को हरी झंडी दिखाने के अलावा पुन:निर्मित वडनगर रेलवे स्टेशन का भी उद्घाटन किया जहां बचपन के दिनों में वह चाय बेचने में अपने पिता का हाथ बंटाया करते थे।

* 16 जुलाई को कांग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी तथा महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा लखनऊ पहुंचीं और भारी भीड़ के बीच हजरतगंज में स्थित महात्मा गांधी जी की प्रतिमा पर 2 घंटे का मौन धारण करने के बाद कांग्रेस कार्यालय में पहुंच कर मीडिया को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में लोकतंत्र खतरे में है। महिलाओं के साथ अभद्रता की जा रही है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी प्रदेश के मु यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ कर रहे हैं कि उत्तर प्रदेश में बेहतरीन काम हो रहा है। 

* 17 जुलाई को महाराष्ट्र में शिवसेना के सत्ता में भागीदार राकांपा के सुप्रीमो तथा राज्यसभा सांसद शरद पवार की दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ एक घंटे तक बातचीत के बाद राजनीतिक गलियारों में हलचल मच गई। इससे पहले 16 जुलाई को वह रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह तथा राज्यसभा में सदन के नेता पीयूष गोयल से भी मिल चुके हैं। इससे चर्चा शुरू हो गई है कि महाराष्टï्र में भाजपा और राकांपा मिल कर सरकार बना सकते हैं।
* यहीं पर बस नहीं, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के 25 जुलाई को दिल्ली के दौरे पर आने तथा विपक्षी दलों के नेताओं सोनिया गांधी और अरविंद केजरीवाल आदि से मिलने का कार्यक्रम है। 

कुल मिलाकर भाजपा, कांग्रेस तथा ‘आप’ आदि के अंदर आगामी चुनावों में सत्ता प्राप्त करने के लिए काम शुरू हो गया है जिसके परिणामस्वरूप आने वाले दिनों में नए समझौते होने के अलावा लोगों को अपने साथ जोडऩे की कवायद तेज होती जाएगी। इसके साथ ही सत्तारूढ़ एवं विरोधी दल मतदाताओं को लुभाने के  लिए नए-नए चुनावी वायदों, नई-नई योजनाओं और नई-नई घोषणाएं करते रहेंगे जिसका कुछ न कुछ लाभ तो देश और लोगों को पहुंचेगा ही।—विजय कुमार 
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Chief Editor

vijay kumar

Recommended News