घर लेना हो तो जल्दी करें, अक्टूबर से बढ़ेंगे दाम

बेंगलुरुः देश के प्रमुख बाजारों में रेजिडेंशियल प्रॉपर्टी के दाम इस वित्त वर्ष 2019-20 की दूसरी छमाही के दौरान बढ़ने की संभावना है। डिमांड में बढ़ोतरी से बिक्री की रफ्तार में तेजी आने की उम्मीद पर यह अनुमान जताया गया है। जिन कुछ बाजारों में डिमांड इस बीच बढ़ी है, वहां कीमतों में कमी का ट्रेंड पर रोक लगी है।

वित्त वर्ष में मार्केट सेंटीमेंट में बदलाव हो सकता है और रेजिडेंशियल प्रॉपर्टी की कीमतों में कुछ तेजी आ सकती है। 360 रियल्टर्स और लियासेज फोरास की रिपोर्ट में बताया गया, 'पिछले पांच वर्षों में दिल्ली-एनसीआर में बेंगलुरु जैसे बड़े रेजिडेंशियल मार्केट्स में प्रॉपर्टी की औसत कीमत में कुछ कमी आई है, जबकि मुंबई, हैदराबाद, पुणे में कीमतें 2-3 फीसदी बढ़ी हैं।' 

रिपोर्ट में कहा गया, 'वित्त वर्ष 2020 के मध्य तक मार्केट सेटीमेंट में और बदलाव होने की उम्मीद है और प्राइस ग्रोथ में तेजी आएगी। डिमांड चढ़ने से कीमतों में बढ़ोतरी होगी।' रिपोर्ट में कहा गया है कि वित्त वर्ष 2018-2019 में हैदराबाद रियल एस्टेट के लिहाज से सबसे मजबूत मार्केट के तौर पर उभरा है और इस वित्त वर्ष में भी इसमें अच्छी ग्रोथ होने की उम्मीद है। चौथे क्वॉर्टर में बेंगलुरु में प्रॉपर्टी सेल्स 4 फीसदी बढ़कर लगभग 8,800 यूनिट की रही। दिल्ली-एनसीआर में यह तिमाही-दर-तिमाही आधार पर 3.5 फीसदी गिरकर करीब 13,270 यूनिट की थी। मुंबई और पुणे में सेल्स क्रमश: 0.1 फीसदी और 1.3 फीसदी की वृद्धि के साथ 18,000 और लगभग 11,200 यूनिट की थी। 

रियल एस्टेट सेक्टर को बढ़ावा देने के लिए सरकार और रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) कदम उठा रहे हैं। RBI ने इस कैलंडर ईयर में दो रेट कट किए हैं और रिपो रेट घटकर 6 पर्सेंट हो गई है। के रहेजा कॉर्प के चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर ओम आहूजा ने कहा, 'RBI ने महत्वपूर्ण इंटरेस्ट रेट में कमी कर सकारात्मक रवैया दिखाया है। होमबायर्स को अब घर खरीदने में कुछ आसानी होगी।' 

मौजूदा फाइनेंशयल ईयर में सरकार के पॉलिसी से जुड़े उपायों का भी असर दिखना जारी रहेगा। चुनाव नजदीक होने के कारण कुछ लोग घर खरीदने का अपना फैसला टाल सकते हैं। गुड्स ऐेंड सर्विसेज टैक्स (GST), डीमॉनेटाइजेशन और RERA से रियल एस्टेट सेक्टर में बड़े बदलाव हुए हैं। इस सेक्टर में अभी लिक्विडिटी की समस्या बरकरार रह सकती है। नए हाउसिंग प्रोजेक्ट के लॉन्च भी कम होने की उम्मीद है। 

Related Stories:

RELATED ‘वक्त बुरा हो तो घर बैठे मौत आ जाती है’ सुना ही होगा, आज देख भी लीजिए