मोदी सरकार का तोहफा, बचत योजनाओं पर बढ़ाई ब्याज दरें

बिजनेस डेस्कः मोदी सरकार ने सुकन्या समृद्धि और पब्लिक प्रॉविडेंट फंड (पीपीएफ) जैसी लघु बचत योनाओं में पैसा लगाने वालोंं को बड़ा तोहफा दिया है। सरकार ने अक्तूबर से दिसंबर तिमाही के लिए सभी लघु बचत योजनाओं पर ब्याज दरें बढ़ा दी है। बढ़ी हुई ब्‍याज दरें 1 अक्‍टूबर 2018 से 31 दिसंबर 2018 तक के लिए प्रभावी होंगी।



इन योजनाओं पर बढ़ाई ब्याज दरें 
वित्त मंत्रालय द्वारा जारी अधिसूचना के मुताबिक पब्लिक प्रॉविडेंट फंड (पीपीएफ) और राष्‍ट्रीय बचत पत्र (एनएससी) पर 8 फीसदी का ब्‍याज मिलेगा। वहीं, सुकन्‍या समृद्धि योजना पर अब 8.5 फीसदी और वरिष्‍ठ नागरिक बचत योजना पर 8.7 फीसदी का ब्‍याज मिलेगा। किसान विकास पत्र पर मिलने वाले ब्याज की दर को 7.3 फीसदी से बढ़ाकर 7.7 फीसदी किया गया है। हालांकि, डाकघर बचत खाते की ब्‍याज दरों में कोई परिवर्तन नहीं किया गया है और यह 4 फीसदी ही रहेगा।



नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट पर भी लाभ
वित्त मंत्रालय ने नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट्स, 5 वर्षीय मंथली इनकम एकाउंट, वर्षीय सीनियर सिटिजन एकाउंट, 5 वर्षीय रकरिंग डिपॉजिट और 1-5 वर्ष तक टाइम डिपॉजिट पर भी अक्तूबर से दिसंबर के लिए ब्याज की दर को बढ़ाया है। नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट्स पर दर 7.6 फीसदी से बढ़ाकर 8 फीसदी, मंथली इनकम एकाउंट पर 7.3 फीसदी से बढ़ाकर 7.7 फीसदी, सीनियर सिटिजन सेविंग स्कीम पर 8.3 फीसदी से बढ़ाकर 8.7 फीसदी और 5 वर्षीय रकरिंग डिपॉजिट पर 6.9 फीसदी से बढ़ाकर 7.3 फीसदी किया गया है।

Related Stories:

RELATED सरकारी कर्मचारियों को तोहफा, अब जीपीएफ पर मिलेगा 8 फीसदी ब्याज