अमरीकाः मध्यावधि संसदीय चुनाव 12 भारतीय - अमरीकी आजमा रहे हैं अपनी किस्मत

वाशिंगटनःअमरीका में मध्यावधि संसदीय चुनाव 6 नवम्बर से शुरू होने जा रहे है । इन चुनाव दौरान 12 भारतीय - अमेरिकी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं जिसमें से तीन महिलाएं हिराल तिपिरनेनी और अनीता मलिक अरिजोना से हैं, वहीं प्रमिला जयपाल वॉशिंगटन से हैं। कुछ अहम संसदीय जिलों में भारतीय अमेरिकी अपने प्रतिद्वंद्वियों को कड़ी टक्कर दे रहे हैं। इनमें प्रमुख हैं आठवें संसदीय जिले अरिजोना से हिराल तिपिरनेनी और पूर्व राजनयिक प्रेस्टन कुलकर्णी जो 22वें जिले टेक्सास से चुनाव लड़ रहे हैं।

भारत के लिए अमरीका के राजनयिक रह चुके रिचर्ड वर्मा ने गुरुवार को कुलकर्णी के नाम की अनुशंसा की। इनके अलावा युवा भारतीय - अमेरिकी आफताब पुरेवाल,संजय पटेल, हैरी अरोड़ा आदि इस चुनावी दौड़ में शामिल हैं। निर्दलीय शिवा अयादुरई एकमात्र भारतीय - अमेरिकी हैं जो मैसाच्युसेट्स से अमरीकी सीनेट के लिए उम्मीदवार हैं। प्रतिनिधि सभा में पहुंचने वाली पहली भारतीय - अमरीकी महिला जयपाल वाशिंगटन के 7वें संसदीय क्षेत्र से पुन: निर्वाचित होने की कोशिश में जुटी हुई हैं। उनकी लोकप्रियता को देखते हुए उनकी जीत के कयास लगाए जा रहे हैं।

उनके अलावा तीन अन्य भारतीय - अमरीकी, इलिनोइस से राजा कृष्णमूति, कैलिफोर्निया से रो खन्ना और डॉ अमी बेरा भी दोबारा निर्वाचित होने के लिए चुनावी दौड़ में हैं। पिछले तीन चुनावों के मतों की दोबारा गणना के बाद बेरा को विजयी घोषित किया गया था। इस बार रिपब्लिकन पार्टी के एन्ड्रूय ग्रांड उन्हें कड़ी टक्कर दे रहे हैं।  इस वर्ष कृष्णमूति को रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार भारतीय - अमेरिकी जितेन्द्र दिगनवेकर के खिलाफ इलिनोइस से खड़ा किया गया है। दिलचस्प बात यह है कि दोनों ही प्राइमरी चुनावों में निॢवरोध निर्वाचित हुए थे।      
 

Related Stories:

RELATED 25 जुलाई को हुए आम चुनाव की संसदीय समिति फिर से करेगी जांच