बिहार में NDA ने हासिल किया प्रचंड बहुमत, महागठबंधन के कई दिग्गजों की जमानत हुई जब्त

पटनाः बिहार में इस बार के लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की बड़ी जीत के साथ ही पप्पू यादव, डॉ. शकील अहमद, दशई चौधरी, देवेन्द्र प्रसाद यादव और पुतुल कुमारी समेत की कई दिग्गज नेताओं की जमानत जब्त हो गई।

सतरहवें लोकसभा चुनाव (2019) में राजग के बैनर तले भारतीय जनता पार्टी (भाजपा), जनता दल यूनाईटेड (जदयू) और लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) ने मिलकर चुनाव लड़ा। तालमेल के तहत भाजपा को 17, जदयू को 17 और लोजपा को छह सीटें मिली। भाजपा और लोजपा ने जहां अपने-अपने खाते की सभी सीटें जीतीं वहीं जदयू किशनगंज को छोड़ शेष सभी 16 सीटें जितने में कामयाब रही। राजग द्वारा प्रचंड बहुमत हासिल करने पर न सिर्फ महागठबंधन के नेताओं को हार का सामना करना पड़ा बल्कि कई दिग्गज नेताओं की जमानत भी जब्त हो गई।

जमानत जब्त होने वाले दिग्गज नेताओं में जन अधिकार पार्टी(जाप) के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव, राष्ट्रीय समता पार्टी(सेक्यूलर) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अरुण कुमार, जनतांत्रिक विकास पार्टी(जविपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल कुमार, पूर्व केन्द्रीय मंत्री डॉ. शकील अहमद, पूर्व केन्द्रीय मंत्री देवेन्द्र प्रसाद यादव, पूर्व केन्द्रीय मंत्री दशई चौधरी, पूर्व सांसद पतुल कुमारी, पूर्व सासंद अनिरुद्ध प्रसाद उर्फ साधु यादव प्रमुख हैं।

Related Stories:

RELATED संसद सत्र से पहले भाजपा संसदीय दल, राजग की बैठक