मकर संक्रांति स्पेशल: अपनी राशि के अनुसार खिचड़ी के साथ करें ये दान

ये नहीं देखा तो क्या देखा(video)
खरमास की समाप्ति और शुभ कार्यों की शुरुआत है मकर संक्रांति। मकर संक्रांति को कुछ लोग खिचड़ी भी कहते हैं। हिंदू धर्म में इस त्योहार को प्रमुख त्योहारों में से एक माना जाता है। अधिकतर हर साल मकर संक्रांति 14 जनवरी को मनाई जाती है। जब सूर्य धनु से मकर राशि में प्रवेश करता है। इस बार ऐसा नहीं है क्योंकि इस साल मकर संक्रांति 14 जनवरी को नहीं बल्कि 15 जनवरी को है। 14 जनवरी को देर रात में सूर्य राशि बदलेगा, इस कारण अगले दिन यानी 15 जनवरी को मकर संक्रांति मनाई जाएगी। बता दें, साल में कुल मिलाकर 12 संक्रांति होती हैं, क्योंकि सूर्य हर महीने में राशि परिवर्तन करता है लेकिन इनमें से चार संक्रांति महत्वपूर्ण हैं जिनमें मेष, कर्क, तुला, मकर संक्रांति शामिल हैं। मकर संक्रांति के दिन से ही घर में शादी-ब्याह, मुंडन और नामकरण जैसे शुभ कार्य शुरू हो जाते हैं इसलिए इस त्योहार का लोगों को बहुत बेसब्री से इंतज़ार रहता है।


धर्मग्रंथों में तिल दान को बहुत विशेष बताया गया है। इस दिन दान का विशेष महत्व है, खास कर तिल दान का। महिलाएं पूजा करते वक्त सुहाग की निशानियों को चढ़ाती हैं और फिर इन्हें 13 सुहागनों को बांटती हैं। तो चलिए अब राशि के हिसाब से बताते हैं कि इस पावन पर्व पर किसे क्या दान करना चाहिए-

मेषराशि वाले जल में पीले फूल, हल्दी और तिल मिलाकर सूर्य को अर्घ्य दें, खिचड़ी और तिल-गुड़ का दान करें।

वृषराशि वाले जल में सफेद चंदन, दूध, सफेद फूल और तिल डालकर सूर्य को अर्घ्य दें। खिचड़ी और तिल के लड्डुओं का दान करें।

मिथुनराशि वाले जल में तिल डालकर सूर्य को अर्घ्य दें। खिचड़ी और गुड़ का दान करें।

कर्कराशि वाले जल में दूध, चावल और तिल मिलाकर सूर्य को अर्घ्य दें। खिचड़ी और तिल से बनी गुड़ की रेवड़ी का दान करें।

सिंह राशि वाले जल में कुमकुम, लाल फूल और तिल डालकर सूर्य को अर्घ्य दें। खिचड़ी और सफेद तिल के लड्डू दान करें।

कन्या राशि वाले जल में तिल, दूर्वा और पुष्प डालकर सूर्य को अर्घ्य दें। खिचड़ी और गुड़ का दान करें।

तुलाराशि वाले जल में तिल डालकर सूर्य को अर्घ्य दें। खिचड़ी और सफेद चंदन का दान दें। 

वृश्चिक राशि वाले जल में कुमकुम, लाल फूल और तिल मिलाकर सूर्य को अर्घ्य दें, साथ ही खिचड़ी और गुड़ का दान दें।

धनु राशि वाले जल में दूध, चावल और तिल मिलाकर सूर्य को अर्घ्य दें। खिचड़ी और तेल, रुई, वस्त्र और राई दान करें।

मकर राशि वाले जल में तिल, दूर्वा और पुष्प मिलाकर सूर्य को अर्घ्य दें। खिचड़ी दान करें और गाय को हरा चारा खिलाएं।

कुंभ राशि वाले जल में लाल सिंदूर मिलाकर, गरीबों को खिचड़ी खिलाएं और कंबल दान करें साथ ही चने की दाल का भी दान करें।

मीनराशि वाले तांबे के पात्र में जल और लाल मिर्च डालकर सूर्य को अर्घ्य दें। खिचड़ी और तिल का दान करें।
मकर संक्रान्ति पर क्या करें क्या न करें, खिचड़ी के साथ क्या दान करें !(video)
 

Related Stories:

RELATED हजारों रुपए की सट्टा राशि के साथ 2 काबू