जस्टिस मदन बी लोकुर हुए रिटायर, वकीलों ने दी विदाई

नई दिल्लीः उच्चतम न्यायालय के वकीलों ने न्यायमूर्ति मदन बी लोकुर को शुक्रवार को विदाई दी। लोकुर तात्कालीन प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा के खिलाफ चार न्यायाधीशों द्वारा 12 जनवरी को किए गए विवादास्पद संवाददाता सम्मेलन का हिस्सा थे। न्यायमूर्ति लोकुर 31 दिसंबर को सेवानिवृत्त हो रहे हैं।

शुक्रवार को उच्चतम न्यायालय में उनका अंतिम नियमित कार्यदिवस था। क्योंकि इसके बाद न्यायालय में सर्दी और क्रिसमस की छुट्टियां हो जाएगी। प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई ने कहा कि लोकुर का भले ही यह न्यायिक तौर पर अंतिम नियमित कार्य दिवस हो। लेकिन वह अगले दो सप्ताह में होने वाले कई अहम फैसलों में हिस्सा लेंगे।

प्रधान न्यायाधीश, विचार के लिए आनेवाले जिन मुद्दों की बात कर रहे थे उनमें उनका इशारा कुछ न्यायाधीशों को उच्च न्यायपालिका में पदोन्नति देने वाला मुद्दा भी है और जिसके लिए शीतकालीन अवकाश के दौरान कॉलेजियम की बैठक हो सकती है।

लोकुर उच्चतम न्यायालय के दूसरे सबसे वरिष्ठ न्यायाधीश हैं। उन्होंने न्यामूर्ति जे चेलेमेश्वर (मौजूदा समय में सेवानिवृत्त), कुरियन जोसेफ (मौजूदा समय में सेवानिवृत्त) और न्यायमूर्ति गोगोई के साथ उस संवाददाता सम्मेलन में हिस्सा लिया था जिसमें तात्कालीन प्रधान न्यायाधीश मिश्रा के खिलाफ संवेदनशील मामलों का बंटवारे को लेकर प्रश्न उठाए थे। 

Related Stories:

RELATED वकीलों ने चैम्बर्स हथियाने के लिए लगाए पोस्टर